600+ Shayari about life – Zindagi Shayari in Hindi & English

Looking for Shayari about life to express your life journey?
Well, you have come to the right place. We have compiled the best Shayari on life to match all phases of your life. Whether it is joy, sorrow or pain, we have you covered. Browse through our vast collection of Zindagi Shayari to motivate and express yourself.

Also check out our Love Shayari, Sad Shayari, and Dosti Shayari.

Best Shayari about life with images

Feel free to share these Shayari about life images on Facebook and WhatsApp. You can also check out Pinterest page for more high-quality images.

Shayari about life in Hindi

1

shayari on life
Yeh Khusbhu,
Yeh Hawaa Apki Huyi,
Mausam Ki,
Har Ek Ada Apki Huyi,
Dil Ne Chaha,
Kuch Khaas Tohfa Doo Aapko,
Chalo Aaj Se
Meri Har Dua Apki Huyi.

2

zindigi shayari
Ajnabi Kuch Milte Hai Aur Jane Kab Dost Ban Jate Hai,
Dil Mein Nahi Baste Vo To Dil Ka Hissa Ho Jate Hai,
Badi Haseen Lagti Hai Duniya Doston K Saath Yaro,
Par Bada Dard Hota Hai Jab Kabhi Dost Ajnabi Ho Jate Hai

3

friendship importance in life shayari
तु कितनी भी खुबसुरत क्यूँ ना हो एे ज़िंदगी.
खुशमिजाज़ दोस्तों के बगैर अच्छी नहीं लगती

4

happy life shayari
मुस्कुराओ क्या गम है,
जिंदगी में टेंशन किसको कम है,
अच्छा या बुरा तो केवल भ्रम है,
जिंदगी का नाम ही.. कभी खुशी कभी गम है!!
Good Morning

5

love and life shayari
इश्क़ सभी को जीना सिखा देता है,
वफ़ा के नाम पर मरना सीखा देता है,
इश्क़ नहीं किया तो करके देखो,
ज़ालिम हर दर्द सहना सीखा देता है!

6

कल के नौसखिए..सिकंदर हो गए
हल्की हवा के झोंके..बवंडर हो गए!
मै लड़ता रहा..उसूलों की पतवार थामें
मै कतरा ही रहा..लोग समन्दर हो गए.

7

Bematlab Ki Duniya Ka
Kissa Hi Khatm,
Ab Jis Tarah Ki Duniya
Us Tarah Ke Hum.

8

वक़्त तो अब लफ़्ज़ों में दिया जाता है,
रूबरू तो महज दिखावा किया जाता है।

9

Roothe Huye Hain Jo Humse,
Hum Unko Khud Hi Mana Lenge,
Soyi Huyi Apni Kismat Ko,
Hum Fir Se Yaaron Jaga Lenge.

10

Zindagi Mein Bar Bar Sahara Nahi Milta,
Bar Bar Koi Pyar Se Pyara Nahi Milta,
Hai Jo Pas Use Sambhal Ke Rakhna,
Kho Kar Wo Fir Kabhi Dubara Nahi Milta!

11

Bhul Jana Use Jo Tumhe Bhula De,
Mat Dekhna Use Jo Tumhe Rula De,
Par Kabhi Dukhi Na Hona Us Shakhs Se,
Jo Apni Aakhein Bhigo Kar Tumhe Hasa De.

12

Dard Jo Tune Diya Wo Gehra Diya,
Karke Wada Tune Humko Bhula Diya,
Zakhm Dene Wale Tera Bhi Shukriya,
Jo Zindagi Ka Tune Matlab Sikha Diya.

13

Agar Duniya Ko Samjhane Ki Sochte Ho,
Toh Kabhi Isko Toh Samjha Na Sakoge Tum,
Agar Ki Parwah Duniya Ki Baaton Ki Tumne,
Toh Kabhi Bhi Mujhko Pa Na Sakoge Tum.

14

हमें न मोहब्बत मिली न प्यार मिला,
हम को जो भी मिला बेवफा यार मिला,
अपनी तो बन गई तमाशा ज़िन्दगी,
हर कोई अपने मकसद का तलबगार मिला!

15

हमने तो जिंदगी की बहुत सी खुशियों को बर्बाद किया है,
तब हमने दर्द में मुस्कुराने का हुनर आबाद किया है।

16

लब खामोश है दिल भी उदास है,
मुद्दतों से जैसे जिंदगी लापता हो।

17

Larkiyaan Bewafaa Nahi Hoti
Wo To Majburiyo Mein Lipti Hain
Apne Shiddat Bhare Khayalon Mein
Apne Ander Chhupi Ek Aurat Mein
Wo Hamesha Hi Darti Rehti Hain
Na To Jeeti Hain Na To Marti Hain
Apne Reet Or Rawajoon Se
Aane Wale Naye Azaboon Se
Zarurat Mein Khile Ghulaboon Se
Pyaar Karti Hain Or Chhupati Hain
Larkiyaan Bewafaa Nahi Hoti
Kyu K Majborioon Mein Lepti Hain
Aur Har Lamha Darti Rehti Hain
Apne Pyaar Se,
Apne Saye Se
Apne Rishton Se,
Dil Ki Dharkan Se
Apni Khwahish,
Se Apni Kushioon Se

18

ये सोच कर अपनी हर हँसी बाट दी मेने
कि किसी ख़ुशी पर मेरा भी नाम हो जाए:
मुख़्तसर सा सफर है मेरा कोन जाने कब
मेरे इस सफर की आखरी शाम हो जाए

19

Zindagi Me Insaan Kisi Ki Sacchi Kimat
Keval Do Hi Halato Me Samaj Pata Hain
Ek Usko Paane Se Pahle,
Aur Ek Usko Khone Ke Baad.

20

खूबसूरती को कभी किसी चेहरे में मत ढूंढना,
खूबशूरती को हमेशा लोगो के दिलो में ढूंढना।

21

ज़िन्दगी में कभी किसी की मज़ाक मत बनाना,
क्योंकि जब समय मौका देता है,
फिर उसी तरह से धोखा भी देता है।

22

जब भी करीब आता हूँ बताने के लिये,
जिंदगी दूर रखती हैं सताने के लिये,
महफ़िलों की शान न समझना मुझे,
मैं तो अक्सर हँसता हूँ गम छुपाने के लिये।

23

Aap Se Mulakat Ki Ek Ajib Si Nishani Hai,
Hanste Hanste Aankhein Bhar Aati Hain,
Zindagi Mein Ho Chahe Kitni Pareshani,
Aap Ke Saaye Mein Har Muskil Aasan Nazar Aati Hai.

24

छोटे से दिल में गम बहुत है,
जिन्दगी में मिले जख्म बहुत हैं,
मार ही डालती कब की ये दुनियाँ हमें,
कम्बखत दोस्तों की दुआओं में दम बहुत है.

25

जिंदगी हमारी युं सितम हो गई
खुशी ना जानें कहा दफन हो गई,
लिखी खुदा ने मुहब्बत सबकी तकदीर में,
हमारी बारी आई तो स्याही खत्म हो गई.

26

Subah Ka Har Pal Pyaari Zindagi De Apko,
Din Ka Har Pal Khushiya De Aapko,
Jahan Gam Ki Hawa Choo Bhi Na Sake Aapko,
Khuda Wo Jannat Si Zami De Aapko.
Good Morning

27

उजड़ी हुई दुनिया को तू आबाद न कर,
बीते हुए लम्हों को तू याद न कर,
एक कैद परिंदे ने ये कहा हम से..
मैं भुल चुका हूं उड़ना मुझे आजाद न कर!

28

अब तो अपनी तबियत भी जुदा लगती है,
सांस लेता हूँ तो ज़ख्मों को हवा लगती है,
कभी राजी तो कभी मुझसे खफा लगती है,
जिंदगी तू ही बता तू मेरी क्या लगती है।

29

Pyar Ki Gadi Mein Kabhi Petrol Nahi Hota,
Pyar Ke Safar Mein Kabhi Panchar Nahi Hota,
Pyar Jivan Ki Aisi Gadi Hai Jis Mein…
Do Se Jayada Passenger Hona Achha Nahi Hota.

30

मन नही करता
कभी नींद आती थी..
आज सोने को “मन” नही करता,
कभी छोटी सी बात पर आंसू बह जाते थे..
आज रोने तक का “मन” नही करता,
जी करता था लूटा दूं खुद को या लुटजाऊ खुद पे
आज तो खोने को भी “मन” नही करता,
पहले शब्द कम पड़ जाते थे बोलने को..
लेकिन आज मुह खोलने को “मन” नही करता,
कभी कड़वी याद मीठे सच याद आते हैं..
आज सोचने तक को “मन” नही करता,
मैं कैसा था? और कैसा हो गया हूं
लेकिन आज तो यह भी सोचने को “मन” नही करता।

31

Mere Jane Ke Baad Kisi Ko,
Fark To Nai Padega,
Bass Tanhayi Hi Royegi,
Ki Mera Humsafar Chala Gya….

32

Rooth Jaye Agar Koi Toh Mana Lo,
Tutne Na Do Ghar Apna Basa Lo,
Agar Dushman Bhi Mile Raah Mein Kabhi,
Toh Usko Bhi Yaar Gale Laga Lo.

33

सडक कितनी भी साफ क्यों न हो,
लेकिन धूल हो ही जाती है।
और इंसान चाहे कितना भी अच्छा क्यों न हो,
भूल हो ही जाती है।

34

सब के दिलों का एहसास अलग होता है,
इस दुनिया में सब का व्यवहार अलग होता है,
आँखें तो सब की एक जैसी ही होती है,
पर सब का देखने का अंदाज़ अलग होता है!
शुभ सवेरा

35

पहले से उन कदमों की आहट जान लेते हैं,
तुझे ऐ ज़िंदगी हम दूर से पहचान लेते हैं।

36

जिंदगी भी कितनी अजीब है,
जो कभी सोचा वो कभी मिला नही,
जो पाया कभी सोचा नही,
और जो मिला रास आया नही,
जो खोया वो याद आता है,
और जो मिला सम्भाला जाता नही।

37

जिंदगी के राज है तो राज रहने दो,
अगर हैं कोई एतराज तो रहने दो,
पर जब दिल करे हमें याद करने को,
तो उसे ये मत कहना के आज रहने दो!

38

ज़िन्दगी में एक बात
हमेशा याद रखना
हमें तब तक कोई
हरा नहीं सकता
जब तक हम खुद से
न हार जाये

39

Jo Dil Ke Aaine Me Ho…
Wo Hi Pyar K Kabil Hai,
Wrna Deewar K Kabil To
Har Tasveer Hoti Hai!

40

तूने तो रुला कर रख
दिया ए-ज़िन्दगी जा कर
पूछ मेरी माँ से कितने
लाडले थे हम

41

झूठ भी क्या गजब की चीज़ है,
अगर खुद बोलो तो मीठा लगता है,
और कोई दूसरा बोले तो कड़वा लगता है।

42

Agar Bharosa Uparwale Par Hai To,
Jo Likha Taqdeer Mein Hai Wahi Paoge,
Magar Bharosa Agar Khud Par Hai To,
Wo Wahi Likhega Jo Aap Chahoge,

43

दर्द क्या होता है बताएगे किसी रोज,
इस दिल की गजल सुनाएंगे किसी रोज,
उड़ने दो इन परिंदों को आजाद फिजाओ में,
हमारे हुए तो लौट आएंगे किसी रोज!!

44

ए ज़िन्दगी तू इतनी
बद्सलुखी न कर
कौन सा यहा हम
बार-बार आने वाले है

45

ज़िन्दगी का अनुभव थोड़ा कच्चा है,
जितना समय गुज़र गया.. अच्छा है,
अपना घरौंदा ख़ुशी से चहके सदा,
हम बड़े हो गए पर दिल तो बच्चा है।
शुभ प्रभात

46

नही मांगता ए खुदा की जिंदगी 100 साल की दे,
दे भले चंद लम्हो की मगर कमाल की दे।

47

Milna Ek Ittefaq Hai,
Aur Bichadna Majburi Hai,
Char Din Ki Is Zindagi Mein,
Sabka Sath Hona Jaruri Hai.

48

Zindgi Mein Pehle Hi Itna Gum Samet Liya He Yaaron,
Ab Aur Aasuon Ki Jagah Baaki Kahan Hai,
Hum To Apni Saanse Sambhal K Baithe The Bas,
Par Kambakth Es Duniya Ko Hi Chain Kaha Hai…

49

किस्मत पर नाज़ है तो वजह तेरी रहमत..
खुशियां जो पास है तो वजह तेरी रहमत..
मेरे अपने मेरे साथ है तो वजह तेरी रहमत..
मैं तुझसे मोहब्बत की तलब कैसे न करूँ..
चलती जो ये सांस है तो वजह तेरी रहमत..

50

Zindagi Ne Kai Sawalat Badal Dale,
Waqt Ne Mere Haalaat Badal Dale,
Main To Aaj Bi Wahi Hun Jo Main Kal Tha,
Bas Mere Liye Kuch Apno Ne Apne Khyalat Badal Dale.

51

ज़िन्दगी एक हसीन ख़्वाब है,
जिसमें जीने की चाहत होनी चाहिये,
ग़म खुद ही ख़ुशी में बदल जायेंगे,
सिर्फ मुस्कुराने की आदत होनी चाहिये।

52

तेरे हर ग़म को अपनी रूह में उतार लूँ,
ज़िंदगी अपनी तेरी चाहत में सवार लूँ,
मुलाक़ात हो तुझसे कुछ इस तरह मेरी,
सारी उम्र बस एक मुलाक़ात में गुज़ार लूँ।

53

हम तो रोज़ खुद को पड़ते हैं,
और रोज़ छोड़ देते हैं,
हमतो हर रोज़ जिंदगी का एक
पन्ना मोड़ देते हैं।

54

राह संघर्ष की जो चलता है,
वो ही संसार को बदलता है।
जिसने रातों से जंग जीती है,
सूर्य बनकर वही निकलता है।

55

Doulat Se Hi Hote Hain Agar Haasil Sabhi Riste,
To Kyu Na Tu Bhi Ise Pa Ke Dikha De,
Agar Tujh Mein Nahi Himaat Aisa Karne Ki Toh Sun,
Kam Se Kam Yeh Toh Kar Apni Yeh Zindagi Gavan De.

56

Jaha Sar Juk Jaye Wahi Khuda Ka Ghar Hai,
Jaha Har Nadi Mil Jaye Wahi Samandar Hai,
Is Zindgi Mein Dard To Sab Dete Hai,
Jo Har Dard Ko Samaj Sake Wo Hi Hamdard Hai.

57

Mile Wo Jo Aapki Nazar Ko Talash Ho,
Har Subah Ke Saath Ek Naya Ahsaas Ho,
Zindagi Ka Har Lamha Pasand Aaye Apko,
Zindagi Gujre Aise Ki Har Pal Khushiyo Se Mulakat Ho

58

Kami Hai Mujh Mein Toh Bas Itni Eh Mere Dosto,
Ki Haal E Dil Apna Sabhi Ko Suna Deta Hun Main,
Yeh Maalum Hai Mujhko Ki Koi Saath Nahi Deta,
Fir Bhi Sabhi Ko Apna Bana Letaa Hun Main.

59

कोई खुशियों की चाह में रोया,
कोई दुखों की पनाह में रोया,
अजीब सिलसिला है ये ज़िन्दगी का,
कोई भरोसे के लिए रोया,
तोह कोई भरोसा करके रोया.

60

Aapka Dost Jab Pragati Kare Tab
Garv Se Kehna Wo Mera Dost Hai,
Aur
Jab Aapka Dost Mushkil Mein Ho Tab
Garv Se Kehna Main Uska Dost Hun.

61

Zindagi Se Pucho Ye Kya Chahti Hai,
Bas Ek Dil Se Wafa Chahti Hai,
Kitni Masoom Or Nadaan Hai Zindagi,
Khud To Bewafa Hai Aur Dusro Se Wafa Chahti Hai !!!

62

Khusiyon Se Toh Kuchh Bhi Na Hua Haasil,
Balki In Ki Vajah Se Lakhon Jakham Khaye,
Jinhe Samjhate The Bure Wohi Gham Aaj Dekhiye,
Hamein Inki Shohrat Kis Mukam Par Le Aaye.

63

Dil Ki Baat Dil Mein Rahi Ho Jaise,
Hans Ke Tuu Naa Hansi Ho Jaise,
Umar Se Lambii Sadak Pe Chalte,
Koi Sadaa Tuune Suni Ho Jaise,
Armaan Jitne Sajaye The Kabhi,
Woh Aas Dil Mein Dabi Ho Jaise,
Dekhne Ko Tasveer Haath Mein,
Yaad Koi Puraani Li Ho Jaise,
Raat Ke Khaali Sannaate Mein,
Saans Ruk Ruk Ke Chali Ho Jaise,
Waqt Ke Band Darwaazon Mein,
Jaag Ke Der Tak Darri Ho Jaise,
Dipak Se Le Ke Koi Kitaab,
Tuune Raat Bhar Padhi Ho Jaise.

64

रोने से किसी को पाया नहीं जाता,
खोने से किसी को भुलाया नहीं जाता,
वक्त सबको मिलता है जिन्दगी बदलने के लिए,
पर जिन्दगी नहीं मिलती वक्त बदलने के लिए!

65

किसी ने क्या खूब लिखा है:
कल न हम होंगे न गिला होगा,
सिर्फ सिमटी हुई यादों का सिललिसा होगा,
जो लम्हे हैं चलो हंसकर बिता लें,
जाने कल जिंदगी का क्या फैसला होगा।

66

Iss Dil Ko Kisi Ki Aas Rehti Hai,
Nigaah Ko Kisi Soorat Ki Pyaas Rehti Hai,
Tere Bina Zindagi Mein Kami Toh Nahi,
Phir Bhi Tere Bina Zindagi Udhaas Rehti Hai.

67

Jiske Aage Mujhko Jana Hi Nahi,
Aaj Mujhko Woh Thikana Mil Gaya,
Unse Do Hi Mulakatein Kya Huyi,
Jamane Ko Yun Hi Bahana Mil Gaya.

68

इस जिंदगी में कहाँ मिलते है समझने वाले,
अक्सर लोग हमे समझा कर चले जाते हैं।

69

मुझसे नाराज है तो छोड़ दे तन्हा मुझको,
ज़िन्दगी मुझे रोज रोज तमाशा न बनाया कर।

70

Tum Kiya Jaano Main Khuda Se Kiya Maangti Hoon..
Tumhari Salamti Ki Hamesha Dua Mangti Hoon..
Tum Ho Hamesha Kaamyaab Tumhaari Her Khwaahish Ho Poori
Bass Ye Chaahti Hoon Aur Tumhari Khushi Maangti Hoon.

71

Kaun Kahta Hai Ghamon Mein Jiya Nahi Jata,
Kaunkahta Hai Jeevan Ka Jahar Piya Nahi Jata,
Humko Dekhiye Ji Raha Hai Lakhon Jakham Khakar,
Kaun Kahta Hai Har Ek Jakham Siya Nahi Jata.

72

Khuda Ne Nawaja Hume Zindagi Dekar,
Aur Hum Shohrat Maangte Reh Gaye,
Zindagi Gujar Di Humne Shohrat K Piche,
Phir Jeene Ki Mohlat Maangte Reh Gaye.

73

Tum Tab Tak Pyar Se Pyar Mat Karo Ki,
Pyar Tum Se Pyar Na Kare,
Pyar Ko Itna Pyar Karo Ki,
Pyar Kisi Aur Se Pyar Na Kare.

74

जिस उम्र में इंसान ख्वाहिश रखता है,
उसमें तजुर्बे मिल रहे हैं,
ऐ खुदा क्या ज़िन्दगी में हम इतने गुनाह
कर रहे हैं।

75

बख्शा है ठोकरों ने सँभलने का हौसला,
हर हादसा ख्याल को गहराई दे गया।

76

इस उम्मीद से मत फिसलो,
कि तुम्हें कोई उठा लेगा,
सोच कर मत डूबो दरिया में,
कि तुम्हें कोई बचा लेगा…
ये दुनिया तो एक अड्डा है,
तमाशबीनों का दोस्तों…
गर देखा तुम्हें मुसीबत में तो,
यहां हर कोई मज़ा लेगा

77

ग़म न कर ज़िन्दगी बहुत बड़ी है
चाहत की महफ़िल तेरे लिए सजी है
बस एक बार मुस्कुरा कर तो देख
तकदीर खुद तुझसे मिलने बहार खड़ी है

78

Bachpan Ke Din Kitne Ache Hote The,
Tab “Dil”Nahi Sirf “Khilone” Tota Krte The
Ab To Ek Ansu Tak Bhi Saha Nahi Jata,
Aur Bachpan Me Jee Bharkar Roya Krte The.

79

Ab Aansoonon Ko Aankhon Me Sajana Hoga,
Charaag Bujh Gaye Khud Ko Jalana Hoga,
Na Samajhna Ki Tumse Bichadke Khush Hain Hum,
Hamein Logon Ki Khatir Muskurana Hoga..

80

एक दिन जब उम्र ने तलाशी ली,
तो जेब से लम्हे बरामद हुए..
कुछ ग़म के थे,
कुछ नम से थे कुछ टूटे हुए थे,
बस कुछ ही सही सलामत मिले.
जो बचपन के थे!!

81

Koi Rishta Naya Ya Purana Nahi Hota,
Zindagi Ka Har Pal Suhana Nahi Hota,
Juda Hona To Kismat Ki Baat Hai,
Par Judai Ka Matlab Bhulana Nahi Hota.

82

मंजिल मिले ना मिले
ये तो मुकदर की बात है !!
हम कोशिश भी ना करे
ये तो गलत बात है!

83

Hum Se Ek Rootha Hua .
Shakhs Na Mana,
Log To Roothi Huyi
Taqdeer Mana Lete Hain.

84

कभी जो जिंदगी में थक जाओ,
तो किसी को कानो कान खबर भी न होने देना,
क्योंकि लोग टूटी
हुई इमारतों की ईंट तक उठा कर ले जाते हैं।

85

Duniya Me Koi Kisi Ke Liye Kuch Nahi Karta,
Marne Wale Ke Saath Har Koi Nahi Marta,
Are Marne Ki Baat To Door Rahi,
Yaha To Zindgi Hai Phir Bhi Koi Yaad Nahi Karta.

86

ऐ जिन्दगी देख तुझे हम बता रहे हैं.
आखों मैं समुन्दर् रोक कर भी हम मुस्कुरा रहे हैं!

87

मुझे ज़िंदगी का इतना तजुर्बा तो नहीं है दोस्तों,
पर लोग कहते हैं यहाँ सादगी से कटती नहीं।

88

Har Sakhas Ka Aaj Ajab Haal Hai,
Shaad Hote Huye Bhi Haal Behaal Hai,
Hoton Par Dekho Toh Jhooti Muskaan Hai,
Chehre Par Kisi Ke Gham Ke Nishaan Hain.

89

तंग आ चुके हैं कशमकश-ए-ज़िंदगी से हम,
ठुकरा न दें जहाँ को कहीं बे-दिली से हम,
लो आज हमने छोड़ दिया रिश्ता ए उमीद,
लो अब कभी किसी से गिला ना करेगे हम,
पर जिंदगी मे मिल गये इत्तेफ़ाक से
पुछेगे अपना हाल तेरी बेबसी से हम।

90

ले दे के अपने पास फ़क़त एक नजर तो है,
क्यूँ देखें ज़िंदगी को किसी की नजर से हम।

91

Hamain Na Muhabbat Mili Na Pyar Mila,
Humko Jo Bhi Mila Bewafa Yaar Mila,
Apni To Ban Gaye Tamasha Zindagi Ka,
Har Koi Apne Maqsad Ka Talabgar Mila.

92

जिंदगी देने वाले,
मरता छोड़ गये,
अपनापन जताने वाले तन्हा छोड़ गये,
जब पड़ी जरूरत हमें अपने हमसफर की,
वो जो साथ चलने वाले रास्ता मोड़ गये।

93

ज़िन्दगी के उलझे सवालो के जवाब ढूंढता हु,
कर सके जो दर्द कम,
वोह नशा ढूंढता हु,
वक़्त से मजबूर,
हालात से लाचार हु मैं,
जो देदे जीने का बहाना ऐसी राह ढूंढता हु!

94

ज़िदगी जीने के लिये मिली थी,
लोगों ने सोचने में ही गुज़ार दी….

95

Syaah Raatein,
Mayusi,
Aansu,
Lachari,
Tanhayi,
Mohabbat De Ya Kar Maut Ka Intezam Zindgi.

96

मुझे पतझड़की कहानियां सुना के
उदास न कर ऐ-जिंदगी….
नए मौसम का पता बता,
जो गुज़र गया वो गुज़र गया !!

97

Mere Moula Tune Toh Di Hogi Achhi Hi,
Shayad Maine Hi Kho Di Kahin Takdeer Meri,
Teri Karigari Mein Toh Kahin Kami Na Thi,
Mujhse Hi Ban Na Saki Achhi Tasveer Meri.

98

ना जाने क्यों ए जिंदगी मुझे तेरी तलाश है,
माना करोड़ पल है इस जिंदगी मैं,
पर तेरे साथ बीताया एक पल उन करोड़ों से खास है,
इस लिए ए जिंदगी मुझे तेरी तलाश है।

99

Yuhi Aankhon Se Aansu Behte Nahi,
Kisi Aur Ko Hum Apna Kehte Nahi,
Ek Tum Hi Ho Jo Ruk Se Gaye Ho Zindagi Mein,
Warna Rukne Ke Liye Hum Kisi Ko Kehte Nahi.

100

समंदर न सही पर एक नदी तो होनी चाहिए,
तेरे शहर में ज़िंदगी कहीं तो होनी चाहिए।

101

जिंदगी में कभी धुप तो कभी छाव आया करती है,
पर जिंदगी हर पल नया नया सिखाया करती है,
जिंदगी कभी छोटी छोटी बाते सिखाया करती है,
तो कभी कभी बड़े बड़े सबक सिखाया करती है।

102

मेरी चाहत ने उसे खुशी दे दी,
बदले में उसने मुझे सिर्फ खामोशी दे दी,
खुदा से दुआ मांगी मरने की लेकिन,
उसने भी तड़पने के लिए जिन्दगी दे दी!

103

ज़िन्दगी तमाशा है और इस तमाशे में,
खेल हम बिगाड़ेंगे,
खेल को बनाने में,
कारवां रुके तो उनका भी कुछ ख्याल आता है,
जो सफ़र में पिछड़े हैं,
रास्ता बनाने में!
Good Night

104

ज़िन्दगी तस्वीर भी है और तक़दीर भी,
फर्क तो सिर्फ रंगों का है।
मनचाहे रंगों से बने तो तस्वीर,
और
अनजाने रंगों से बने तो तक़दीर।

105

Apne Asman Se Meri Zameen Dekh Lo,
Tum Khwab Aaj Koi Hasin Dekh Lo,
Aazmana Hai Agar Aitbar Ko Mere,
To Ek Jhut Tum Bolo Or Mera Yaqeen Dekh Lo.

106

सच्चे किस्से शराबखाने में सुने,
वो भी हाथ मे जाम लेकर,
झूठे किस्से अदालत में सुने,
वो भी हाथ मे गीता-कुरान लेकर।

107

पढ़ने वालों की कमी हो गयी है
आज इस ज़माने में…
वरना मेरी ज़िन्दगी का हर पन्ना,
पूरी किताब है।

108

Pyar To Jindgi Ka Afsana Hai,
Iska Apna Hi Ek Tarana Hai,
Pata He Ki Sabko Milege Sirf Aansu,
Par Na Jane Duniya Me Har Koi Kyo,
Iska Ka Diwana Hai.

109

किस से सीखू मैं खुदा की बंदगी,
सब लोग खुदा के बँटवारे किए बैठे है,
जो लोग कहते है खुदा कण कण में है,
वही मंदिर,
मस्जिद,
गुरूद्वारे लिए बैठे हैं !

110

True And Touching Lines –
Mat Kar Itna Garoor Apne Aap Par Aye Insaan,
Na Jane Khuda Ne Kitne Tere Jese Bana Bana K Mita Diye.

111

कभी पलकों पे आँसू हैं,
कभी लब पर शिकायत है,
मगर ए ज़िन्दगी फिर भी,
मुझे तुझ से मोहब्बत है

112

किसी की मजबूरी का कभी मज़ाक न बनाओ दोस्तों,
जिंदगी अगर मौका देती है,
तो वही जिंदगी धोखा भी देती है।

113

Khud Par Guroor Hai Itna Ki
Kabhi Pechhe Mud Kar Nahi Dekha.
Ek Bar Jise Apna Keh Diya,
Usey Mera Hona Hi Padta Hai

114

Unn Phoolon Se Dosti Kya Karoge,
Jo Ek Din Murjha Jayenge,
Karna Hai Dosti To Hum Jaise Kaanton Se Karo,
Jo Ek Baar Chubhe Toh Baar-Baar Yaad Ayenge.

115

Ek Nafrat Hi Hai..
Jise Duniya Chand Lamho Mein Jaan Leti Hai,
Warna Chahat Ka..
Yaqeen Dilane Mein To Zindagi Beet Jati Hai.

116

तू क्यों ए दिल ऐसे रोता है,
ये ज़िन्दगी है ही ऐसी,
यहाँ ऐसा ही होता है।

117

Shayari Nasha Bhi Hai,
Ek Zajbaat Bhi Hai
Har Toote Hue Dil Ka Ek Ehasaas Bhi Hai,
Jo Samajh Sake Iske Lafzoon Ko,
Uska Pyaar Bhi Hai,
Aur Jo Na Samajh Sake,
Uske Liye Ek Jhootha Khwaab Bhi Hai.

118

Yun Na Jhaanka Karo Kisi Gareeb Ke Dil Mein,
Aye Doston
Wahaan Hasratein
Be-Libaas Raha Karteen Hain!

119

Lajawaab Hai Meri Zindagi Ka Fasana,
Koi Seekhe Mujh Se Har Pal Muskurana,
Koi Meri Hansi Ko Najar Na Lagana,
Bahut Dard Seh Kar Seekha Hai Ham Ne Muskurana.

120

एक खूबसूरत सोच
अगर कोई पूछे जिंदगी में क्या खोया और क्या पाया,
तो कहना जो कुछ खोया वो मेरी नादानी थी और..
जो भी पाया वो प्रभू की मेहेरबानी थी,
खुबसूरत रिश्ता है मेरा और भगवान के बीच में,
ज्यादा मैं मांगता नहीं और कम वो देता नहीं!

121

Is Gumraah Dil Ko Kaash
Ye Mulum Hota..
Ke Mohabbat Us Waqt Tak Dilchasp Hoti Hai,
Jab Tak Nahi Hoti.

122

Wo Ek Shaks Bhi
Dekha To Dushmano Me Tha
K Naam Jiska Mere Dil Ki
Dhadhkano Me Tha…!

123

Choo Le Aasmaan Zameen Ki Talaash Na Kar,
Jee Le Zindagi Khushi Ki Talaash Na Kar,
Takdeer Badal Jaayegi Khud Hi Mere Dost,
Muskurana Seekh Le Wajah Ki Talaash Na Kar.

124

Hasi Ke Raste Pe Chala Karo,
Khushiyo Ki Mahak Liya Karo,
Pyar Se Dilon Ko Chuha Karo,
Jahan Tumhe Gum Nazar Aaye,
Is Nacheez Ko Yaad Kiya Karo,
Har Kali Tujhse Khushboo Udhar Mange,
Aftab Tujhse Noor Udhar Mange,
Rab Kare Tu Dosti Aisi Nibhaye Ki Log Teri Dosti Udhar Mange.

125

किसी रोज़ याद न कर पाऊं तो खुदगर्ज़ न समझ लेना दोस्तों,
दरसल छोटी सी इस उम्र में परेशानिया बहुत हैं,
मैं भूला नहीं हूँ किसी को मेरे बहुत अच्छे दोस्त हैं ज़माने में,
बस थोड़ी ज़िन्दगी उलझ पड़ी है दो वक़्त की रोटी कमाने में|

126

Khuda Ki Razaa Mein Sada Raazi Rahna Seekh Lo,
Mera Duniya Waalon Ko Sada Yehi Paigam Hoga,
Usne Di Zindagi Tab Bhi Kiya Sazda Humne,
Jab Mout Woh Dega Tab Bhi Mera Salaam Hoga.

127

Gahraai Ka Shok Kise Hai,
Hum To Kinaare Par Hi Rahte Hain,
Kisi Galti Ka Aham Nahi Mujhe,
Kisi Ke Sahaare Hi Rahte Hain,
Teri Qaaynaat Mein Thodi Jagah De Ah Khuda,
Intezaar,
Tere Ishaare Par Hi Rahte Hai.

128

Ise Nacheez Ko Har Kisi Ne Istemal Kiya,
Khubsurat Nahi Thi Par Fir Bhi Pyar Ka Inteqab Kiya,
Jab Aayi Nibhane Ki Baari,
To Kaha Yaar Humne To Sirf Majak Kiya.

129

Mat Soch Itana Zindagi Ke Baare Mein
Jisane Zindagi Dee Hai Usane Bhi Kuchh To Socha Hoga

130

हँसी आपकी कोई चुरा ना पाये,
आपको कभी कोई रुला ना पाये,
खुशियों का दीप ऐसे जले ज़िंदगी में
कि कोई तूफ़ान भी उसे बुझा ना पाये।

131

तुम सचमुच जुड़े हो गर मेरी जिंदगी के साथ,
तो कुबूल करो मुझको मेरी हर कमी के साथ !!

132

मेरी खामोशी थी जो सबकुछ सह गयी,
उसकी यादें ही अब इस दिल में रह गयी,
थी शायद उसकी भी कोई मज़बूरी,
जो मेरी जिंदगी की कहानी अधूरी ही रह गयी!!

133

दुनिया का बोझ जरा दिल से उतार दे,
छोटी सी जिंदगी है हँस के गुजार दे.

134

कुछ लोग रिश्ते मतलब से बनाते है,
लेकिन उसमे लोग कुछ नही पाते है,
पर जो लोग रिश्ते दिल से बनाते है,
वो कुछ न पाकर भी सब कुछ पाते है।

135

Yeh Ashq Paani Ke Is Tarah Na Ganva,
Ki Yeh Anmol Moti Hain,
Yeh Hayat Nahak Hi Na Ganva,
Ki Yeh Zindagi Bahut Chhoti Hai.

136

Raj Jab Sine Se Bahar Ho Gaya Apna Kahan
Ret Par Bhikhre Huye Aansu Utha Sakte Nahin,
Aadmi Kya Hai Gujrate Wakt Ki Tasveer Hai
Jaane Wale Ko Sada Dekar Bula Sakte Nahin,
Sahar Mein Rahte Huye Hamein Jamana Ho Gaya
Koun Rahta Hai Kahan Kuchh Bhi Bata Sakte Nahin.

137

जाने क्या मुझसे ज़माना चाहता है,
मेरा दिल तोड़कर मुझे ही हसाना चाहता है,
जाने क्या बात झलकती है मेरे इस चेहरे से,
हर शख्स मुझे आज़माना चाहता है!

138

पढ़ने वालों की कमी हो गयी है
आज इस ज़माने में…
वरना मेरी ज़िन्दगी का हर पन्ना,
पूरी किताब है।

139

कागज़ की कश्ती से पार जाने की ना सोच,
चलते हुए तुफानो को हाथ में लाने की ना सोच,
दुनिया बड़ी बेदर्द है,
इस से खिलवाड़ ना कर,
जहाँ तक मुनासिब हो,
दिल बचाने की सोच।

140

Zindagi Ko So Baar Aajmaya Hai Humne,
Har Baar Mout Ko Hi Kareeb Paya Hai Humne,
Chot Khane Se Kab Baaj Aate Hain Hum Bhi,
Toote Dil Ko Aaj Fir Lagaya Hai Hamne.

141

प्यार तब तक रहता है जब तक की वजूद
और मौजूद की बात हो-नहीं तो
जरुरी और मज़बूरी रस्ते ही बदल देते है

142

देखा है ज़िन्दगी को कुछ इतना करीब से,
चेहरे तमाम लगने लगे हैं अब तो अजीब से।

143

कोशिश न कर तू सभी को ख़ुश रखने की,
नाराज तो यहाँ कुछ लोग भगवान से भी हैं,
मन की बात कह देने से फैसले हो जाते हैं,
और मन में रख लेने से फासले हो जाते हैं!

144

ज़िन्दगी हर पल ढलती है,
जैसे रेत मुट्ठी से फिसलती है,
शिकवे कितने भी हो किसी से,
फिर भी मुस्कराते रहना,
क्योंकि ये ज़िन्दगी जैसी भी है,
बस एक ही बार मिलती है।

145

सर-ऐ-आम मुझे ये शिकायत है ज़िन्दगी से ,
क्यूँ मिलता नहीं मिजाज मेरा किसी से।

146

Duniya Me Sabhi Hain Ajnabi,
Hum Hain Aap Ke Liye Ajnabi,
Aap Hain Mere Liye Ajnabi,
Ye Ajnabi Hi Ban Jate Hain Zindgi,
Kyuki Ajnabi Se Hi Hoti Hai Mohabbat Aur Dosti.

147

Milna Ek Ittefaq Hai,
Aur Bichadna Majburi Hai,
Char Din Ki Is Zindagi Mein,
Sabka Sath Hona Jaruri Hai.

148

Dekha Hai Zindagi Ko Kuchh Itna Kareeb Se,
Chehre Tamaam Lagne Lage Hain Ab Toh Ajeeb Se.

149

अपनी कमजोरियां उन्ही लोगों को बताइये,
जो हर हाल में आपके साथ
मजबूती से खड़े होना जानते है”
” क्यूँकि रिश्तों में विश्वास,
और मोबाईल में नेटवर्क ना हो,
तो लोग Game खेलना शुरू कर देते हैं !!

150

इन्सान ख्वाहिशो से बंधा
एक जिद्दी परिंदा है
जो उम्मीदों से ही घायल है
और उम्मीदों से ही जिंदा है

151

Bewafa Hai Ye Duniya,
Kabhi Kisi Ka Aitbaar Na Karna..
Har Pal Milta Hai Yahan Pe Dhoka,
Kabhi Kisi Se Pyar Na Karna.
Mar Jaana Chahiye,
Saari Umar Tanha Ji Kar,
Par Zindagi Mein Kabhi Kisi Ka,
Intzaar Na Karna.

152

Jo Kal Nahi Tha Wo Aaj Hu,
Khud Se Chupa Hua Ek Raaz Hu,
Jo Koi Khehta Tha Beta,
Use Apne Bachcho Se Fursat Nahi Hai,
Me Kuch Na Mangu Khuda Se Bus Pyar Ka Mohtaz Hu..

153

Zindagi Tujhse Har Kadam Par Samjhota Kyun Kiya Jaye,
Shauk Jeene Ka Hai Magar Itna Bhi Nahi Ki,
Mar-Mar Ke Jiya Jaye.
Jab Jalebi Ki Tarah Ulajh Hi Rahi Hai Tu Aey Zindagi,
Toh Fir Kyun Na Tujhe Chaashni Mai Dubokar Maza Hi Le Liya Jaye.

154

Bojh Ban Gaya Hun Dharti Par,
Mere Maula Tu Utha Le Mujhko,
Bhale Daal Dena Wahan Narka Mein,
Bas Apne Paas Bula Le Mujhko.

155

Chubhati To Hai Jindgi Bhi,
Jab Sathi Nahi Milata Koi,
Khamosiyo Ko Mitane Wala Milta Nahi Koi,
Magr Khamosh Rehne Ka Aaj Yug Mein Koi Fayda Nahi,
Kyuki Khamoshi Ka Fayda Uthata Hai Har Koi.

156

Kisi Ghareeb Ki Madad Kar K Yeh Mat Socho K
Tum Us Ki Duniya Sanwar Rahe Ho,
Yeh Socho K Woh Gareeb…
Aap Ki Akhirat Sanwar Raha Hai.

157

सब हमसे शिकायत करते हैं..
क़ि हम पत्थर होते जा रहे हैं,
कोई इन हालातों से भी तो पूछो,
जो बद से बदतर होते जा रहे हैं।

158

सिखा न सकी जो उम्र भर तमाम किताबे मुझे
करीब से कुछ चेहरे पढे और न जाने कितने.
सबक सीख लिए।

159

Kitna Mushkil Hai Zindagi Ka Yeh Safar,
Khuda Ne Marna Haraam Kiya,
Logon Ne Jeena.

160

Kisi Ko Zyada Aazmaya Nahi Karte…
Apno Ko Kabhi Sataya Nahi Karte…
Chahne Wale Bhi Waqt Ke Lamho Ki Tarah Hote Hain…
Beet Jaaye To Laut Ke Aaya Nahi Karte

161

ये ज़िन्दगानी तो बहुत हल्की हुआ करती है,
दम तो हमारी ख्वाइशें निकाल दिया करती हैं।

162

लडखडाया है जीतना वो संभल जायेगा,
वक्त आनें पे वो भी जाहिर बदल जायेगा,
आज कहते हो ये क्या-क्या लिखते हो तुम
देखना जमाना मेरे गीत जब कल गायेगा।

163

Tere Sagar Par Moula Yeh Jahan Julm Dha Raha Hai,
Tu Bhi Door Baitha Kaise Muskura Raha Hai,
Ab Puchhta Bhi Nahi Hai Koi Baad Uske Mujhe,
Aaj Bichhuda Yaar Mujhe Yaad Aa Raha Hai.

164

जीवन ने हमे बहुत कुछ सिखाया है,
कभी हँसाया है तो कभी रुलाया है,
लेकिन जो हर हाल में खुश हो कर गुजारता है अपना जीवन,
तो जीवन ने उसके आगे अपना सर झुकाया है।

165

दिल मैं हर राज़ दबा कर रखते है,
होंटो पर मुस्कराहट सजाकर रखते है,
ये दुनिया सिर्फ़ खुशी मैं साथ देती है,
इसलिए हम अपने आँसुओ को छुपा कर रखते है।

166

Kahte Hai Riste Nasa Ban Jate Hai,
Koi Kahte Hai Riste Saja Ban Jate Hai,
Per Riste Nibhao Sache Dil Se To,
Wo Riste Hi Jine Ki Wajah Ban Jate Hai.

167

हम तो अक्सर सारे गमो को
हँस कर गले लगा लेते है,
क्योंकि जिंदगी हमारी ही है
इसे हम खुल कर जी लेते है।

168

Sab Kuchh Mil Jata Hai Duniya Mein Magar,
Yaad Rakhna Ki Bas Maa Baap Nahi Milte,
Murjha Kar Gir Jaaye Ek Baar Dali Se,
Yeh Aise Phool Hain Jo Dobara Nahi Khilte.

169

कभी खोले तो कभी ज़ुल्फ़ को बिखराए है,
ज़िंदगी शाम है और शाम ढली जाए है।

170

Ungliyaan Meri Wafa Par Na Uthana Logo ..
Jise Ko Shak Ho ..
Wo Kabi Mujh Se,
Nibaah Kar Dekhe.!

171

Zindagi Se Hum Apni..
Kuch Udhhar Nahi Lete,
Kafan Bhi Lete Hai..
To Apni Zindagi Dekar.

172

आँखों को अश्क का पता न चलता,
दिल को दर्द का एहसास न होता,
कितना हसीन होता जिंदगी का सफ़र,
अगर मिलकर कभी बिछड़ना न होता।

173

ले दे के अपने पास फ़क़त एक नजर तो है,
क्यूँ देखें ज़िन्दगी को किसी की नजर से हम।

174

नन्हे से दिल में अरमान कोइ रखना,
दुनिया की भीड़ में पहचान कोइ रखना,
अच्छे नहीं लगते जब तुम रहते हो उदास,
इन होठों पे सदा मुस्कान कोइ रखना!

175

Zindagi Ne Kuch Is Tarah Ka Rukh Liya,
Jisne Jis Taraf Chaha Mod Diya,
Jisko Jitni Thi Zaroorat Saath Chala,
Aur Phir Ek Lamhe Mein Tanha Chod Diya.

176

Marne Ke Darr Se Mere Dil,
Jeena Naa Tu Chhod Dena,
Rone Ke Darr Se Jahaan Mein,
Hansna Naa Tu Chhod Dena.

177

Roti Hui Ankho Me Intzar Hota Hai,
Na Chahte Huye Bhi Pyar Hota Hai,
Kyo Dekhte Hai Hum Wo Sapne,
Jinke Tutne Per Bhi
Unke Sach Hone Ka Intzar Hota Hai.

178

Paani Pher Do Inn Panno Par
Taki Dhul Jaye Syahi Sari,
Zindgi Phir Se Likhne Ka
Man Hota Hai Kabhi Kabhi.

179

कहने वालों का कुछ नहीं जाता,
सहने वाले कमाल करते हैं,
कौन ढूंढें जवाब दर्दों के,
लोग तो बस सवाल करते हैं…

180

लाजवाब है मेरी जिंदगी का फसाना,
कोई सीखे मुझसे हर पल मुस्कुराना,
पर कोई मेरी हंसी को नजर न लगाना,
बहुत दर्द सहकर सीखा है हम ने मुस्कुराना।

181

Aaj Hum Hai,
Kal Hamari Yaadein Hongi,
Jab Hum Na Honge,
Tab Hamari Baat Hongi,
Kabi Paltoge Zindagi Ke Yeh Paane..
To Shayad Apki Ankhon Se Bhi Barsaaten Hongi.

182

रिश्ते को हमेशा सम्भाल कर रखना होता है,
क्योंकि रिश्ता मौके का मोहताज़ नही होता है,
रिश्ता तो भरोसे का मोहताज़ होता है।

183

जिसके पास अपनी ज़रूरत से ज़्यादा हो
वो उसका नसीब कहलाता है,
जिसके पास सब कुछ है फिर भी
दुखी रहता है वो बदनसीब कहलाता है,
और जिसके पास कम है फिर भी
बहुत सुखी रहता है वो खुशनसीब कहलाता है।

184

Seene Se Laga Kar Apni Wafa Mein,
Thikana Chhod Hum Chale Hain,
Na Manzil Ki Na Raahon Ki Khabar,
Fir Bhi Hum Musafir Bane Hain.

185

क्या है ज़िन्दगी
देखो तो ख्वाब है ज़िन्दगी
पढो तो किताब है ज़िन्दगी
सुनो तो ज्ञान है ज़िन्दगी

186

Dosti Karna Hame Bhi Sikhao,
Dil Ke Kisi Kone Me Hame Bhi Bithao,
Ham Tumhare Dil Me Hain Ki Nahi,
Zuban Se Na Sahi Sms Se To Batao.

187

Phool Bantata Hai Jaise
Sabko Hi Khusboo,
Aise Hi Tu Sab Ko Khusiyan Deta Ja,
Yeh Na Soch Koun Tera Apna Koun Begana,
Bas Sab Ke Hi Diye Gham Chup Chap Leta Ja.

188

जीत किसके लिए,
हार किसके लिए,
ज़िंदगी भर ये तकरार किसके लिए
जो भी आया है वो जायेगा एक दिन,
फिर ये इतना अहंकार किसके लिए..

189

Mijaaj Ko Bas Talkhiyan Hi Raas Aayin,
Humne Kayi Baar Muskura Ke Dekh Liya.

190

कल खेल में मैं नहीं रहूँगा
इजहारे मुहब्बत नहीं करुँगा,
आज पल भर सुन लो फसाना मेरा,
कल से कोई गजल मैं नहीं कहूँगा!

191

Rashme Ulfat Ko Nibhaye To Nibhaye Kaise,
Har Taraf Aag Hai Daaman Ko Bachaye Kaise,
Bojh Hota Jo Gamo Ka To Utha Bhi Lete,
Zindagi Bojh Bani To Fir Uthaye Kaise.

192

Mujhe Zindagi Ka Itana Tajurba To Nahi
Par Suna Hai Saadagi Mein Log Jeene Nahi Dete.

193

कागज़ के नोटों से आखिर
किस किस को खरीदोगे,
किस्मत परखने के लिए यहाँ आज भी
सिक्का ही उछाला जाता है!

195

तेरी धड़कन ही ज़िंदगी का किस्सा है मेरा,
तू ज़िंदगी का एक अहम् हिस्सा है मेरा..
मेरी मोहब्बत तुझसे,
सिर्फ़ लफ्जों की नहीं है,
तेरी रूह से रूह तक का रिश्ता है मेरा!

196

जो लम्हा साथ है उसे जी भर के जी लेना,
ये कमबख्त ज़िन्दगी भरोसे के काबिल नहीं है।

197

ज़िंदगी भी तवायफ की तरह होती है,
कभी मजबूरी में नाचती है कभी मशहूरी में।

198

ज़िन्दगी एक हसीन ख़्वाब है,
जिसमें जीने की चाहत होनी चाहिये,
ग़म खुद ही ख़ुशी में बदल जायेंगे,
सिर्फ मुस्कुराने की आदत होनी चाहिये !

199

Pareshan Hun Main Aur Dard Ka Hai Naam Zindgi,
Achchha Ya Bura Main Hun Par Badnaam Zindgi.

200

हम तो यूँ ही किसी को मतलबी कहा नही करते है,
क्योंकि हम खुद ही उपर वाले को दुःख में याद करते है।

201

मंजिलें मुझे छोड़ गयी रास्तों ने संभाल लिया,
जिंदगी तेरी जरूरत नहीं मुझे हादसों ने पाल लिया।

202

Jab Bhi Karib Aata Hu Batane Ke Liye,
Zindgi Door Rakhti Hai Satane Ke Liye,
Mehfilo Ki Shaan Na Samjhna Mujhe,
Main To Hansta Hu Gam Chupane Ke Liye.

203

Yad Na Karo Gi To Sataoun Ga,
Rotho Gi To Manaoun Ga,
Ro Gi To Hasaoun Ga,
Dost Hon Mein Tumhara Saya Nahi,
Jo Andhere Mein Sath Chor Jaunga.

204

Sangharsh Mein Aadmi Akela Hota Hai,
Safalta Mein Duniya Uske Saath Hoti Hai,
Jis-Jis Per Ye Jag Hasa Hai,
Usi Usi Ne Itihaas Racha Hai.

205

कुछ गुज़री कुछ गुज़ार दी,
कुछ निखरी कुछ निखार दी,
कुछ बिगड़ी कुछ बिगाड़ दी,
कुछ अपनी रही कुछ अपनों पर वार दी,
कुछ इश्क में डूबी कुछ इश्क ने तार दी,
कुछ दोस्त साथ रहे कुछ कसर दुश्मनो ने उतार दी,
बस ज़िन्दगी मिली मुझे..
ज़िन्दगी जैसी ही गुज़ार दी!

206

मैंने ज़िन्दगी से पूछा
सबको इतना दर्द क्यों देती हो
ज़िन्दगी ने हस कर जवाब दिया
हम तो सब को ख़ुशी देते है
पर एक की ख़ुशी दूसरे का
दर्द बन जाती है

207

मैंने जिन्दगी से पूछा..
सबको इतना दर्द क्यों देती हो..??
जिन्दगी ने हंसकर जवाब दिया..
मैं तो सबको ख़ुशी ही देती हुँ..
पर एक की ख़ुशी दुसरे का दर्द बन जाती है !!

208

Kyun Sochte Ho Ki Kuch Bhi Acha Nahi Hota,
Sach To Ye Hai Ki Jaisa Chaho Vaisa Nahi Hota,
Koi Apka Sath De Na De Kabhi Gum Na Karna,
Khud Se Bada Duniya Me Koi Humsafar Nai Hota.

209

छुपी है अन-गिनत चिंगारियाँ लफ़्ज़ों के दामन में,
ज़रा पढ़ना ग़ज़ल की ये किताब आहिस्ता आहिस्ता,
मुकम्मल हो ही गयी आखिर,
आज ज़िन्दगी की ग़ज़ल,
मेरे महबूब ने भी उसको पढ़कर,
वाह-वाह बोला है।

210

Rukne Ka Ab Naam Na Le Eh Meri Zindagi,
Chalna Hi Tera Kaam Hai Eh Meri Zindagi,
Bhatak Kar Na Mout Ki God Mein Ja Girun,
Tu Badh Kar Mujhko Tham Le Ah Meri Zindagi.

211

अब समझ लेता हूँ मीठे लफ़्ज़ों की कड़वाहट,
हो गया है ज़िन्दगी का तजुर्बा थोड़ा थोड़ा।

212

Zindagi Tasveer Bhi Hai Or Taqdeer Bhi Hain,
Farak To Bas Rango Ka Hain,
Maanchahe Rango Se Bane To Tasveer,
Or Aanjane Rango Se Bane To Taqdeer.

213

Zindagi Jaise Jalani Thi Waise Jala Dee Hamane Ghalib.
Ab Dhuen Par Bahas Kaisi Aur Raakh Par Aitaraj Kaisa!!

214

Woh Jo Hamare Liye Khas Hote Hain,
Jinke Liye Dil Mein Ehsaas Hote Hain,
Chahe Waqt Kitna Bhi Door Kar De Unhe,
Door Reh Ke Bhi Woh Dil Ke Paas Hote Hain..

215

मुझ से नाराज़ है तो छोड़ दे तन्हा मुझको,
ऐ ज़िन्दगी,
मुझे रोज़ रोज़ तमाशा न बनाया कर।

216

अगर जिंदगी में भरोसा खुद पर हो तो ताकत बन जाती है,
और वही भरोसा दूसरो पर हो तो कमज़ोरी बन जाती है।

217

मेरी यह ज़िन्दगी है कि मरना पड़ा मुझे,
एक और ज़िन्दगी की तमन्ना लिए हुए।

218

Kahne Walon Ka Kya Hai Yaar,
Yeh Toh Kuchh Bhi Kahte Rahte Hain,
Hamein Inki Toh Parwah Nahi,
Teri Khatir Sitam Yeh Sahte Hain.

219

माँ वो नोट बुक है,
जिसमे औेलाद सब कुछ लिख सकती है,
लेकिन माँ सिर्फ प्यार लिखती है।

220

ऐ ग़म-ए-ज़िंदगी न हो नाराज़,
मुझको आदत है मुस्कुराने की।

221

फुर्सत में करेंगे
तुझसे हिसाब-ए-ज़िन्दगी
अभी तो उलझे है
खुद को सुलझाने में

222

मशहूर होना लेकिन कभी मगरूर मत होना,
छू लो कदम कामयाबी के
लेकिन कभी अपनों से दूर मत होना,
जिंदगी में खूब मिल जायेगी
दौलत और शोहरत पर,
अपने ही आखिर अपने होते हैं
ये बात कभी भूल मत जाना!

223

वही रंजिशें वही हसरतें,
न ही दर्द-ए-दिल में कमी हुई,
है अजीब सी मेरी ज़िन्दगी,
न गुज़र सकी न खत्म हुई।

224

Yaadein Do Dilon Ke Faasle Ko Kaam Karti Hai,
Zindagi Aap Jaise Doston Par Naaz Karti Hain,
Mat Ho Udas Ke Aap Dur Hain Humse Kyun Ke..
Duriyan Hi Rishton Ko Aur Khas Karti Hain.

225

Is Zindagi Se Sabhi Ko Mohabbat Hai,
Par Zindagi Kisi Ki Mohabbat Nahi Banti,
Tamanna Le Kar Jite Hai Yahan Sab Log,
Par Har Tamanna Taqdir Nahi Banti.

226

Khamoshiyon Ke Rishte Nibhana Mujhe Aata Hai,
Har Dard Se Is Dil Ko Lagana Mujhe Aata Hai,
Jo Tum Hanso Hansta Hun,
Agar Ro Do To Rata Hun,
Jo Jaisa Hai Sang Uske Jeena Mujhe Aata Hai,
Banjar Si Jamin Par Hi Kabse Jee Raha Hun Main,
Ret Se Apna Ghar Banana Mujhe Aata Hai,
Dunia Mein Mohabbat Ka Katra Na Mila Mujhko,
Ab Dukh Bhare Geeton Ko Gana Mujhe Aata Hai.

227

Kisi Pal Toh Mile Chain Mujhko,
Kabhi Toh Khusiyon Ka Paigam Mile,
Kya Aayegi Woh Ghadi Jab,
Mere Yaar Ka Mujhko Salam Mile.

228

खुल कर तारीफ़ भी किया करो,
दिल खोल हँस भी दिया करो,
क्यूँ बाँध के ख़ुद को रखते हो,
पंछी की तरह भी जिया करो।

229

साथ ना रहने से रिश्ते टूटा नहीं करते,
वक़्त की धुंध से लम्हे टूटा नहीं करते,
लोग कहते हैं कि मेरा सपना टूट गया,
टूटी नींद है.. सपने टूटा नहीं करते।
शुभ रात्रि

230

जुगनुओं की रोशनी से तीरगी हटती नहीं,
आइने की सादगी से झूठ की पटती नहीं,
ज़िंदगी में गम नहीं फिर इसमें क्या मजा,
सिर्फ खुशियों के सहारे ज़िंदगी कटती नहीं।

231

मंजिलें मुझे छोड़ गयी रास्तों ने संभाल लिया,
जिंदगी तेरी जरूरत नहीं मुझे हादसों ने पाल लिया।

232

आज कल नज़रो से भी चोट लगा करती है,
जब नज़रे देख कर भी अनदेखा कर दिया करती है।

233

फर्क होता है खुदा और फ़क़ीर में,
फर्क होता है किस्मत और लकीर में..
अगर कुछ चाहो और न मिले तो समझ लेना..
कि कुछ और अच्छा लिखा है तक़दीर में।

234

Yeh Zindgi Bas Sirf Pal Do Pal Ki Hai,
Jis Mein Na Toh Aaj Aur Na Hi Kal Hai,
Jee Lo Iss Zindagi Ka Har Pal Iss Tarah,
Jaise Bas Yehi Zindgi Ka Sab Se Hasin Pal Hai.

235

Kudrat K Niyamon Se Khilwad Kar Diya,
Hari Bhari Dharti Ko Ujad Kar Diya,
Guruon Peeron Ke Desh Me Hamne,
Sab Dharmon Ko Vyopar Kar Diya.

236

Ruthi Huyi Zindagi Ko Manana Toh Aata Hain,
Khud Na Hans Sake Par Auro Ko Hasana To Aata Hain,
Hum Khud Naa Bas Sake Kisi Ke Dil Me To Kya Hua,
Par Logo Ko Apne Dil Mein Basana Toh Aata Hain.

237

Main Nahi Chahta K.
Khuda Zindagi 100 Saal Ki De.
Thodhi Hi Sahi Par.
Jo Bhi De Kamaal Ki De.

238

ऐ जिन्दगी तुझ पर मेरा जोर क्यों नहीं चलता,
क्यों हर चीज पराई दी है तूने मुझे।

239

अब तो खुशी का गम है न गम की खुशी मुझे,
बे-हिज बना चुकी है बहुत ज़िन्दगी मुझे,
वो वक्त भी खुदा न दिखाए कभी मुझे,
के उनकी नादाम्तों पे हो शर्मिंदगी मुझे।

240

Girna Bhi Accha Lagta Hai,
Aukat Ka Patta Chalta Hai,
Badhte Hai Jab Hath Logo Ke Uthane Ko,
Apno Ka Patta Chal Jata Hai.

241

Tum Se Bohat Kuch Kehna Hai Magar!
Kabhi Tum Nahi Milte Kabhi Alfaz Nahi Milte!
Ye Doriyan Tu Mita Doon Mein Ek Pal Mein Magar !
Kabhi Kadam Nahi Chalte Tu Kabhi Raste Nahi Milte!
Tumhen Pana Chahti Hoon Umar Bhar Ke Liye Magar!
Kabhi Halat Nahi Milte Tu Kabhi Jazbat Nahi Milte!

242

ज़िन्दगी से पूछिये ये क्या चाहती है,
बस एक आपकी वफ़ा चाहती है,
कितनी मासूम और नादान है ये,
खुद बेवफा है और वफ़ा चाहती है।

243

मायने ज़िन्दगी के बदल गये अब तो,
कई अपने मेरे बदल गये अब तो,
करते थे बात आँधियों में साथ देने की..
हवा चली और सब मुकर गये अब तो।

244

Nafratein Lakh Mili Par Kisi Ki Mohbbt Na Mili,
Zindagi Beet Gai Magar Rahat Na Mili,
Teri Mehfil Me Har Ek Ko Hasta Dekha,
Ek Mein Hi Tha Jise Hasne Ki Ijazat Na Mili..

245

फुर्सत मिले जब भी तो रंजिशे भुला देना,
कौन जाने साँसों की मोहलतें कहाँ तक हैं।

246

हमने इंसानो को अपनी औकात भूलते देखा है,
जब हमने रोटी को कूड़े में फेंकते देखा है।

247

Hum Gussa Un Par Hote Hain,
Jin Pe Humein Yaqeen Hota Hai,
Ke Wo Hamein Mana Lenge,
Aur Hum Manaate Use Hain,
Jise Hum Kabhi Khona Nahi Chahte.

248

Wohi Aansu,
Wohi Aankhein,
Wohi Kajal,
Wohi Lab,
Woh Bhi Kitna Satati Hai Subah Shaam Zindgi.

249

ऐ ज़िंदगी काश तू ही रूठ जाती मुझ से,
ये रूठे हुए लोग मुझ से मनाये नहीं जाते।

250

आज कल जिन लोगो पर सिर्फ दौलत हुआ करती है,
उन लोगो पर दुनिया में सबसे ज़्यादा गरीबी हुआ करती है।

251

जाना कहा था और कहां आ गए,
दुनिया में बन कर मेहमान आ गए,
अभी तो प्यार की किताब खोली थी,
और न जाने कितने इम्तिहान आ गए।

252

Apne Karam Se Wo Mera Mukaddar Bana Gya,
Ek Katre Ko Pal Bhar Me Samundar Bana Gya,
Phulo Se Bhi Jyada Naram Tha Kabi Dil Ye Mera,
Jise Itna Tadpaya Ke Ab Patthar Dil Bana Gaya.

253

Zindagi Mai Hamesha Naye Log Milenge,
Kahin Ziyada To Kahin Kam Milenge,
Aitbaar Zara Soch Kar Karna,
Mumkin Nahi Har Jagah Tumhe Hum Milenge.

254

लगे है फोन जबसे​ ​तार भी नहीं आते​​,
​बूढी आँखों के अब मददगार भी नहीं आते​​,
​​गए है जबसे शहर में कमाने को लड़के​​,
​​हमारे गाँव में त्यौहार भी नहीं आते।

255

Ae Dost Zindagi Bhar Mujhse Dosti Nibhaana,
Dil Ki Koi Bhi Baat Humse Kabhi Na Chupaana,
Sath Chalna Mere Tum Dukh Sukh Mein,
Bhatak Jau Mein Jo Kabhi Sahi Raasta Dikhlaana.

256

Naseeb Me Likha Jo Milega Jaroor,
Dil Hamare Paas Hai Jo Ek War Tutte Ga Jaroor.

257

Kabi Ruth Kar,
Kabi Mana Kar,
Kabi Has Kar,
Kabi Hasa Kar,
Kabi Ro Kar,
Kabi Rula Kar,
Hmara Sms Kahega Apse Har Pal Jiyo,
Muskra Kar,

258

हर ख़ुशी ख़ुशी मांगे आपसे,
जिंदगी जिंदा दिली मांगे आपसे,
उजाला हो मुक़द्दर में आपके इतना,
की चाँद भी रोशनी मांगे आपसे।

259

साथ रहते यूँ ही वक़्त गुज़र जायेगा,
दूर होने के बाद कौन किसे याद आयेगा,
जी लो ये पल जब हम साथ हैं,
कल क्या पता वक़्त कहाँ ले जायेगा।

260

Lab Khulte Hai Band Ho Jate Hai,
Sache Dost Milte Hai Bichad Jate Hai,
Per Jab Saath Bitaye Din Yaad Aate Hai Toh,
Hasti Aankhon Se Bhi Aansoo Nikal Aate Hai.

261

Sagar Main Gehraayi Hoti Hai,
Yaadon Main Tanhayi Hoti Hai,
Is Busy Life Main Kaun Kisko Yaad Karta Hai,
Aur Agar Karta Hai To
Uski Yaado Main Sachhayi Hoti Hai.

262

सुन ऐ ज़िंदगी मुश्किलों के सदा हल दे,
थक न सके हम फुर्सत के कुछ पल दे,
दुआ है दिल से सबको सुखद आज,
और एक बेहतर कल दे.
सुप्रभात

263

Apne Wajood Par Itna Na Itara,
Aye Zindagi,
Woh Toh Maut Hai Jo Mohlat Diye Ja Rahi Hai.

264

Meri Jindagi Ko Tanhai Dhundh Leti Hai
Meri Har Khushi Ko Rusavai Dhundh Leti Hai,
Thahari Hui Hain Manjilen Andheron Mein Kab Se,
Mere Jakhm Ko Game-Judai Dhundh Leti Hai!

265

जिंदगी बहुत कुछ सिखाती है,
थोड़ा रुलाती है थोड़ा हसाती है,
खुद से ज्यादा किसी पे भरोसा मत करना,
क्योंकि अँधेरे में तो परछाईं भी साथ छोड़ जाती है!

266

दुआएँ जमा करने में लग जाओ साहब,
खबर पक्की है दौलत और शोहरत साथ नहीं जायेंगे।

267

Ishq Ki Taqat Ko Kam Na Samajh Naasamajh,
Ishq Ko Gaali Dekar Kamjor Na Kar,
Ishq To Vo Toofaan Hai,
Jo Kisi Anpadh Ko Bhi Bana De Shayar…

268

बेझिझक मुस्कुराये जो भी गम है,
जिंदगी में टेंशन किसको कम है,
अच्छा या बुरा तो केवल भ्रम है,
जिंदगी का नाम ही कभी ख़ुशी कभी गम है।

269

इस बनावटी दुनिया में कुछ सीधा सच्चा रहने दो,
तन वयस्क हो जाए चाहे,
दिल तो बच्चा रहने दो,
नियम कायदो की भट्टी में पकी तो जल्दी चटकेगी,
मन की मिट्टी को थोडा सा तो गीला,
कच्चा रहने दो।

270

एक अजीब सी दौड़ है ये जिंदगी,
अगर जीत जाओ तो अपने पीछे छूट जाते हैं,
और अगर हार जाओ तो अपने ही पीछे छोड़ जाते हैं।

271

जिंदगी में सबसे अच्छे बनो,
ज़िन्दगी में सबसे सच्चे बनो।

272

Aitbar Kiya Bhagwaan Pe Bhagwan Nahi Milta,
Dharti Pe Farishte Bhi Hai Aisa Koi Nishan Nahi Milta,
Jane Kya Huya Hai Duniya Me Sab Khuda He Milte Hain Ab,
Jane Kyun Is Jahan Me Insaan Nahi Milta…

273

दिल में प्यार का आगाज हुआ करता है,
बातें करने का अंदाज हुआ करता है,
जब तक दिल को ठोकर नहीं लगती,
सबको अपने प्यार पर नाज हुआ करता है!

274

ऐ जिंदगी तेरे भी कितने रूप है,
कभी छाव है तो कभी धूप है,
कितने रंग बदलती है जिंदगी,
हर रंग का मजा जिंदगी का क्या खूब है।

275

Mulakaate Bahut Jaruri Hain.
Agar Rishte Nibhane Hain..
Varna Lagakar Bhul Jane Se Toh..
Podhe Bhi Sukh Jate Hai..

276

Daulat Ki Bhuk Aisi Lagi Ki Kamane Nikal Gaye,
Jab Daulat Mili Toh Hath Se Rishte Nikal Gaye,
Bachon Ke Sath Rahne Ki Fursat Na Mil Saki,
Fursat Mili To Bache Khud Kamane Nikal Gye.

277

Chale Hai Kafile Ke Saath…
Hum Bhi Manzil Ki Talash Me,
Raah Mein Bichhad Jaane Walon Mein…
Kabhi Hum Bhi Honge.

278

Jab Pyar Ke Ehsaas Ko Samaj Jaoge,
Har Sanso Mein Mera Hi Naam Paoge,
Mera Pyar Us Waqt Dega Awaz,
Jab Tum Dunia Ki Bheed Mein Khud Ko Akela Paoge.

279

Kamaal Ka Honsla Diya
Rab Ne Insano Ko
Aye Dost
Waqif Hum Agle Pal Se Nahi
Aur
Vaade Janmo Janmo K Karte Hai.

280

Raat Bhar Sisakte Rehna
Bs Ek Shaks Ki Khatir,
Isey Aagr Ishq Kehty Hain
To Wallah Meri Tauba.

281

Kaas Koi Hum Se Puch Leta Ke Tum Bhi Pyar Karte Ho,
Dil Me Koi Mohabbat Hai Ki Ase Hi Aah Bhrte Ho,
Kasam Se Ham Unhe Kewal Sach Hi Batate,
Jo Puch Lete Wo,
Hamare Dil Me Kewal Watan Basa Hai,
Ashiyana Deta He Jo.

282

Hume Waqt Aur Teacher Dono Sikhaate Hain,
Par Waqt Or Teacher Me Sirf Itna Sa Farq Hai,
Teacher Sikhaa Ke Imtihaan Leta Hain,
Aur Waqt Imtihaan Lekar Sikhaata Hain!!

283

सिखा दिया दुनिया ने मुझे अपनो पर भी शक करना
मेरी फितरत में तो गैरों पर भी भरोसा करना था!

284

सुबह का हर पल ज़िंदगी दे आपको,
दिन का हर लम्हा खुशी दे आपको,
जहा गम की हवा छू कर भी न गुज़रे,
खुदा वो जन्नत से ज़मीन दे आपको.
Good Morning

285

आज फिर ए तन्हाई लग जा गले,
के तुझसे लिपट के रोने का बहुत दिल है,
एक तू ही तो है हमसाया जिंदगी का मेरी.
वरना यहां तो हर रिश्ता,
मेरी रूह का कातिल है!

286

Kuchh Aise Haadse Bhi Hote Hain
Zindgi Mein Ai Dost,
Insaan Bach Toh Jata Hai Magar
Zinda Nahi Rehta.

287

Zindagi Har Pal Dhalti Hai,
Jaise Ret Mutthi Se Fisalti Hai,
Shikwe Kitne Bhi Ho Kisi Se,
Fir Bhi Muskurate Rahna,
Kyunki Yeh Zindagi Jaisi Bhi Hai,
Bas Ek Hi Baar Milti Hai.

288

ज़िंदगी जीने के लिए मुझे दुआ चाहिए,
उस पर किस्मत की भी वफ़ा चाहिए,
खुदा के रहम से सब कुछ है मेरे पास,
बस प्यार करने के लिए आप जैसा कोई महबूब चाहिए

289

अजीब सी दौड़ है ये ज़िन्दगी
जीत जाओ तो कई अपने पीछे छूट जाते हैं,
और हार जाओ तो अपने ही पीछे छोड़ जाते हैं!

290

Gham Na Kar Zindagi Bahut Badi Hai,
Chahat Ki Mehfil Tere Liye Saji Hai,
Bas Ek Bar Muskura Kar Tho Dekh,
Taqdeer Khud Tujhse Milne Bahar Khadi Hai.

291

चाहे कितनी भी मुसीबत आये जिंदगी में,
मैं गर्व से फूल जाता हूँ।
और जब हँसती है मेरी माँ मुझे देख कर,
तब मैं सारे गम भूल जाता हूँ।

292

जब मुझमें सांस थी तब हम अकेले चला करते थे,
और जब सांस न रही तब सब साथ में चला करते थे।

293

Insaniyat Ko Sooli Chade Huye,
Yahan Ek Zamana Bita Gaya Hai,
Hoton Par Toh Jhoot Hai Lekin,
Haath Mein Dekho Geeta Hai.

294

ज़िन्दगी ये चाहती है कि ख़ुदकुशी कर लूँ,
मैं इस इन्तज़ार में हूँ कि कोई हादसा हो जाए।

295

Ek Talwar Ki Keemat Hoti Hai Uski Dhaar Se,
Insaan Ki Keemat Hoti Hai Uske Vyavhaar Se.

296

इंसान कितना भी अच्छा हो
“भूल” तो हो ही जाती है

297

Manzil Tum Chuno,
Raste Hum Denge,
Khush Tum Raho,
Khusiyan Hum Denge,
Bas Isee Tarah Lagan Aur Zunoon Se
Apani “Manzl” Ki Taraf Chalate Raho
To Sapane Apke Pure Honge
Aur Badhaiyan Hum Denge.

298

Apni Bebasi Par Aaj Rona Sa Aaya
Doosron Ko Nahi Maine Apno Ko Azmaaya
Har Dost Ki Tanhaayi Door Ki
Lekin Khud Ko Har Morh Par Tanha Hi Paya!

299

Mujhe Dekh Kar Hi Dar Jate Hain Log,
Raston Me Milte Hi Katrate Hain Log,
Meri Yaari Jab Kisi Se Badhti Hai,
Peeth Pichhe Use Samjhate Hain Log,
Agar Bhool Se Koyi Tareef Kare Meri,
Us Baat Ko Wahin Dafnate Hain Log,
Mera Dushman Jo Kahin Pe Mil Jaye,
Use Tahedil Se Gale Lagate Hain Log,
Sach Kah Deta Hun Kisi Ke Muh Par,
Meri Isi Fitrat Se Ghabrate Hain Log.

300

ज्यादा नादान इंसान ही जिंदगी
का मज़ा ले सकता है,
वरना ज्यादा होशियार इंसान तो
अपनी जिंदगी में ही उलझा रहता है।

301

देखा है ज़िंदगी को कुछ इतना करीब से,
चेहरे तमाम लगने लगे हैं अब तो अजीब से।

302

कश्ती है पुरानी मगर दरिया बदल गया,
मेरी तलाश का भी तो जरिया बदल गया,
ना शक्ल बदली ना अक्ल बदली,
बस लोगों के देखने का नजरिया बदल गया।

303

Ghamon Se Usne Mujhko Navaja,
Us Khuda Ki Hai Meharbaani Hai,
Insan Bankar Main Hun Aaya,
Itni Toh Hai Huyi Mujhse Nadani.

304

Ek Pal Mein Jo Aakar Gujar Jaaye,
Yeh Hawa Ka Woh Jhoka Hai Aur Kuch Nahi,
Pyar Kahti Hai Duniya Jise,
Ek Rangeen Dhokha Hai Aur Kuch Nahi.

305

Eh Mout Jara Thahar Ja,
Jara Sa Ruk Ja Tu,
Intezaar Hai Unka,
Jinki Amanat Hai Zindagi,
Jara Unse Rukhsat Le Lene De,
Fir Le Chalna,
Yeh Jaruri Hai,
Unhi Ki Badolat Hai Zindagi.

306

सो सुख पा कर भी सुखी न हो
पर एक ग़म का दुःख मनाता है
तभी तो कैसी करामात है कुदरत की
लाश तो तैर जाती है पानी में
पर जिन्दा आदमी डूब जाता है

307

जिंदगी की हकीकत को बस हमने इतना ही जाना है,
दर्द में अकेले हैं और खुशियों में सारा जमाना है।

308

लब पे आती है दुआ बन के तमन्ना मेरी,
ज़िन्दगी शम्मा की सूरत हो खुदाया मेरी।

Shayari about life in English

309

Kaash Is Dil Ki Aawaz Mein Itna Asar Ho Jaye,
Hum Aapko Yaad Karein,
Aur Aap Ko Khabar Ho Jaye,
Khuda Se Maangte Hain Ki Aap Jise Bhi Chaho,
Wo Zindagi Ki Raah Mein Apka Humsafar Ho Jaye.

310

Yeh Mujhse Puchhate Hain Doctor Kyu,
Ki Tu Zinda To Hai Ab Tak,
Magar Kyu,
Jo Rasta Chhod Ke Main Ja Raha Hun,
Usi Raste Par Jati Hai Najar Kyu,
Sunayenge Kabhi Fursat Mein Tumko,
Ki Hum Barson Rahe Hai Darbadar Kyu,
Yahan Bhi Sab Hai Begana Hi Mujhse
Kahun Main Kya Ki Yaad Aaya Hai Ghar Kyu,
Main Khus Rahta Gar Samjha Na Hota,
Ye Duniya Hai To Main Deedavar Kyu.

311

Hamare Rishtey Ko Dil Se Juda Na Karna,
Zindagi Main Na Kbhi Ye Gunaah Karna,
Kuch Pal Beet Jaye Tumse Baat Kiye Bina,
Zindagi Na Beet Jaye Ye Dua Karna.

312

फ़िज़ा में ज़हर भरा है जरा संभल कर चलो,
मुखालिफ आज हवा है जरा संभल कर चलो,
कोई देखे न देखे बुराइयां अपनी..
खुदा तो देख रहा है जरा संभल कर चलो।

313

Thodi Si Toh Akal Seekh Le Tu Bhi Pagal,
Jaane Waale Ko Peechhe Se Bulaya Nahi Karte,
Ban Jaate Hai Naasur Ek Vakt Ke Baad,
Dil Ke Jakhmon Ko Yu Sahlaya Nahi Karte.

314

एक पहचान हज़ारो दोस्त बना देती हैं,
एक मुस्कान हज़ारो गम भुला देती हैं,
ज़िंदगी के सफ़र मे संभाल कर चलना,
एक ग़लती हज़ारो सपने जला कर राख बना देती है…

315

नदी जब किनारा छोर देती हैं,
राह की चट्टान तक तोर देती हैं,
बात छोटी सी अगर चुभ जाए दिल में तो,
जिंदगी के रास्तों को भी मोर देती हैं।

316

जब मुल्ला को मस्जिद में राम नजर आए,
जब पंडित को मंदिर में रहमान नजर आए,
सुरत ही बदल जाए इस दुनिया की गर
इंसान को इंसान में इंसान नजर आए….।।

317

ज़िन्दगी की हर सुबह कुछ शर्ते ले कर आती है,
ज़िन्दगी की हर शाम कुछ तजुर्बे दे कर जाती है।

318

Kabhi Nazrein Milane Me Zamane Beet Jaate Hain,
Kabhi Nazrein Churane Me Zamane Beet Jaate Hain,
Kisi Ne Aankh Bhi Kholi To Sone Ki Nagri Mein,
Kisi Ko Ghar Banane Me Zamane Beet Jaate Hain,
Kabhi Kaali Siyahi Raatein Hamein Ek Pal Ki Lagti Hai,
Kabhi Ek Pal Bitane Me Zamane Beet Jaate Hain.

319

लोग मुन्तज़िर ही रहे कि हमें टूटा हुआ देखें,
और हम थे कि सहते-सहते पत्थर के हो गए।

320

Chhodkar Chala Jaaun Ab Teri Yeh Duniya,
Mere Data Mujhko Itni Si Izazat De De,
Maine Payi Hai Nafrat Sada Teri Di Zindagi Se,
Maut Toh Laga Le Gale Itni Mohabbat De De.

321

जाना कहा था और कहां आ गए,
दुनिया में बन कर मेहमान आ गए,
अभी तो प्यार की किताब खोली थी,
और न जाने कितने इम्तिहान आ गए।

322

ज़िन्दगी में कभी नफरत से नफरत कम हुआ नही करती है,
नफरत तो सिर्फ मोहब्बत से ही कम हुआ करती है।

323

प्यार वो हम को बेपनाह कर गये,
फिर ज़िन्दगी में हम को तन्नहा कर गये,
चाहत थी उनके इश्क में फ़नाह होने की,
पर वो लौट कर आने को भी मना कर गये।

324

गुजरी हुई जिंदगी को कभी याद ना कर,
तकदीर में जो लिखा है उसकी फरियाद ना कर,
जो होगा वो होकर रहेगा,
तु कल की फिकर में अपनी आज की हंसी बर्बाद ना कर!

325

ज़िन्दगी कभी आसान नही होती इसे आसान बनाना पड़ता हे
कुछ नज़र अंदाज करके कुछ को बर्दाश्त करके..!!

326

Khushiya Milti Nahi Mangne Se,
Manzil Milti Nahi Raah Par Ruk Jane Se,
Bharosa Rakhana Apne Aap Par Aur Us Rab Par,
Sab Kuchh Deta Hai Wo Sahi Waqt Aane Pe.

327

Mere Mata Pita Hi Sabkuchh Hain Mere Liye,
Inse Badhkar Na Koi Hai Mera Yahan,
Inki Khatir Hi Toh Zinda Hun Ghamon Mein Main,
Inke Liye Hi Toh Haajir Hai Mera Dil Meri Jaan.

328

बहुत आसान है जमाने में जनम लेना,
बड़ी मुश्किल है एक उम्र तक जीवन जीना,
हम तो खामोश हैं तेरी ही खामोशी से,
तुमसे ही सीखा है हमने आंसू पीना..

329

Kuchh Rishte Upar Wala Banata Hai,
Kuchh Rishte Log Banaate Hain,
Woh Log Bahut Khaas Hote Hain,
Jo Bina Rishte,
Rishta Nibhaate Hai.

330

अगर कोई चीज़ तक़दीर में नही भी लिखी है,
तो भी दुआ जरूर करनी चाहिए,
क्योंकि तक़दीर के सामने हम बेबस हैं,
लेकिन तक़दीर लिखने वाला नही!

331

जब भी देखता हूँ
किसी गरीब को हँसते हुए
तो यकीन आ जाता है
की खुशियो का ताल्लुक दौलत से नहीं होता..

332

कहती हैं मुझे ज़िन्दगी,
कि मैं आदतें बदल लूँ,
बहुत चला मैं लोगों के पीछे,
अब थोड़ा खुद के साथ चल लूँ!

333

मुझ से नाराज़ है तो छोड़ दे तन्हा मुझको,
ऐ ज़िंदगी,
मुझे रोज-रोज तमाशा न बनाया कर।

334

परेशान हूँ मैं और दर्द का है नाम ज़िन्दगी,
अच्छा या बुरा मैं हूँ पर बदनाम ज़िन्दगी,
स्याह रातें,
मायूस,
आँसू,
लाचारी,
तन्हाई,
मोहब्बत दे या कर मौत का इंतजाम ज़िन्दगी।

335

ज़रा सी ज़िंदगी है,
अरमान बहुत हैं,
हमदर्द नहीं कोई,
इंसान बहुत हैं,
दिल के दर्द सुनाएं तो किसको,
जो दिल के करीब है,
वो अनजान बहुत हैं।

336

तू जिंदगी को जी,
उसे समझने की कोशिश न कर
सुन्दर सपनो के ताने बाने बुन,
उसमे उलझने की कोशिश न कर
चलते वक़्त के साथ तू भी चल,
उसमे सिमटने की कोशिश न कर
अपने हाथो को फैला,
खुल कर साँस ले,
अंदर ही अंदर घुटने की कोशिश न कर
मन में चल रहे युद्ध को विराम दे,
खामख्वाह खुद से लड़ने की कोशिश न कर
कुछ बाते भगवान् पर छोड़ दे,
सब कुछ खुद सुलझाने की कोशिश न कर
जो मिल गया उसी में खुश रह,
जो सकून छीन ले वो पाने की कोशिश न कर
रास्ते की सुंदरता का लुत्फ़ उठा,
मंजिल पर जल्दी पहुचने की कोशिश न कर !

337

दिल मैं हर राज़ दबा कर रखते है,
होंटो पर मुस्कराहट सजाकर रखते है,
ये दुनिया सिर्फ़ खुशी मैं साथ देती है,
इसलिए हम अपने आँसुओ को छुपा कर रखते है!

338

होक मायूस न यु शाम
की तरह ढलते रहिये
ज़िन्दगी एक भोर है सूरज
की तरह निकलते रहिये

339

Shayad Wo Apna Wajood..
Chod Gaya Hai Meri Hasti Mein,
Yun Sote-Sote Jaag Jana..
Meri Aadat Pehle Kabhi Na Thi.

340

Ghar Ki Dahleej Par Meri,
Jab Kadam Woh Rakhenge,
Har Baat Ko Kahne Se Pahle,
Woh Hamein Yaad Jarur Karenge.

341

Zindagi Bhi Kya Ajeeb Mod Leti Hai
Ek Waqt Aisa Tha Jab Hum Apne Dosto Se Kahte The
Chalo Milkar Kuch Plan Banate Hain
Aur Ab
Chalo Milne Ka Koi Plan Banate Hain

342

Dil Ke Dariya Me Dhadkan Ki Kasti Hai,
Khawabo Ki Duniya Me Yado Ki Basti Hai,
Mohabbat Ke Bazar Me Chahat Ka Sauda,
Wafa Ki Kimat Se To Bewafai Sasti Hai..

343

Is Zindagi Ko Jeene Ki Aarzoo,
Bin Tere Hai Adhuri,
Tera Sath Jo Mil Jaye,
Meri Zindagi Ho Jaye Puri.

344

हर बात मानी है तेरी सिर झुका कर ऐ ज़िंदगी,
हिसाब बराबर कर तू भी तो कुछ शर्तें मान मेरी।

345

शायद मैं इसीलिए पीछे हूं,
मुझे होशियारी नही आती,
बेशक लोग ना समझे मेरी वफादारी,
मगर यारो मुझे गद्दारी नही आती।

346

Zindagi Ka Safar Toh Ek Haseen Safar Hai,
Her Kisi Ko Kisi Na Kisi Ki Talash Hai,
Kisi Ke Pass Manzil Hai Toh Raah Nahi,
Aur Kisi Ke Pass Rah Hai Toh Manzil Nahi.

347

Kuch Pathro Me Phul Khil Jate Hai,
Kuch Anjane Bhi Apne Ban Jate Hai,
Kuch Lasho Ko Kafan Naseeb Nahi Hota,
To Kuch Lasho Pr Tajmahal Ban Jate Hain.

348

जिंदगी में क्यों भरोसा करते हो गैरों पर,
जब चलना है अपने ही पैरों पर।

349

जो मिला कोई न कोई सबक दे गया,
अपनी ज़िन्दगी में हर कोई गुरु निकला

350

मुश्किलें जरुर हैं
मगर ठहरा नहीं हूँ मैं
मंजिल से जरा कह दो
अभी पहुंचा नहीं हूँ मैं

351

Gandhiji Janme The Us Desh Me Rehta Hu,
Fir Bhi Ye Bhrshtachar Roj Sehta Hu,
Koi Aayega Mitane Bhrshtachar Ye Manta Hu,
Lakin Khud Himmat Kar Mai Aage Nahi Badta Hu,
Fas Na Jau Rajneeti Me Isi Liye Main Inse Darta Hu,
Har Din Har Roz In Bhrshto K Hatho Main Marta Hu.

352

Anjaan Is Gham Se Koi Reh Nahi Sakta,
Koi Sabar Karta Hai To Koi Seh Nahi Sakta,
Mohobbat To Har Dil Ko Ho Hi Jati Hai,
Bas Koi Izhar Karta Hai To Koi Keh Nahi Sakta.

353

Is Zindagi Ko Jeene Ki Aarzoo,
Bin Tere Hai Adhuri,
Tera Sath Jo Mil Jaye,
Meri Zindagi Ho Jaye Puri.

354

रिश्तो के बाजार में रिश्तो को कुछ इस तरह सजाया जाता है,
ऊपर से तो बहुत अच्छा दिखाया जाता है,
पर अंदर न जाने क्या क्या मिलाया जाता है।

355

रूठी जो जिदंगी तो मना लेंगे हम,
मिले जो गम वो सह लेंगे हम,
बस आप रहना हमेशा साथ हमारे तो,
निकलते हुए आंसूओ में भी मुस्कुरा लेंगे हम।

356

Zindagi Ne Kai Sawalat Badal Dale,
Waqt Ne Mere Haalaat Badal Dale,
Main To Aaj Bi Wahi Hun Jo Main Kal Tha,
Bas Mere Liye Kuch Apno Ne Apne Khyalat Badal Dale.

357

न बदली वक्त की गर्दिश न जमाना बदला,
जब सूख गई पेड़ की डाली तो परिंदों ने ठिकाना बदला।

358

Takdeer Ke Khel Se Nirash Nahi Hote.
Zindagi Me Kabhi Udaas Nahi Hote.
Hatho Ki Lakhiro Pe Yakeen Mat Karna,
Takdir To Unki Bhi Hoti Hai Jinke Hath Nahi Hote.

359

हो के मायूस न यूं शाम से ढलते रहिये,
ज़िन्दगी भोर है सूरज सा निकलते रहिये,
एक ही पाँव पे ठहरोगे तो थक जाओगे,
धीरे-धीरे ही सही राह पे चलते रहिये।

360

Jis Din Band Kar Li Humne Ankhein,
Kai Ankhon Se Us Din Aansu Barsenge,
Jo Kehte Hain Ke Bahut Tang Karte Hai Hum,
Wahi Hamari Ek Shararat Ko Tarsenge.

361

रूठी जो जिदंगी तो मना लेंगे हम,
मिले जो गम वो सह लेंगे हम,
बस आप रहना हमेशा साथ हमारे तो,
निकलते हुए आंसूओ में भी मुस्कुरा लेंगे हम।

362

Baad Aapke Samjhata Hai Kon Mujhe,
Mera Dard Badhane Lage Hain Yeh Log,
Kiske Kandhe Rakhkar Sar Main Roun,
Har Pal Hi Rulane Lage Hain Yeh Log.

363

मां तो जन्नत का फूल है,
प्यार करना उसका उसूल है,
दुनिया की मोह्ब्बत फिजूल है,
मां की हर दुआ कबूल है,
मां को नाराज करना इंसान तेरी भूल है,
मां के कदमो की मिट्टी जन्नत की धूल है!

364

कितनी जल्दी ज़िन्दगी गुज़र जाती है,
प्यास भुझ्ती नहीं बरसात चली जाती है,
तेरी याद कुछ इस तरह आती है,
नींद आती नहीं मगर रात गुज़र जाती है।

365

Hansi Aapki Koi Chura Na Paye,
Aapko Kabhi Koi Rula Na Paye,
Khusiyon Ka Deep Aise Jale Aapki Zindagi Main.
Ki Koi Tufaan Bhi Use Bhujha Na Paye.

366

हद-ए-शहर से निकली तो गाँव गाँव चली,
कुछ यादें मेरे संग पाँव पाँव चली,
सफ़र जो धूप का किया तो तजुर्बा हुआ,
वो जिंदगी ही क्या जो छाँव छाँव चली।

367

Kuch Lamhe Aye Zindagi Me Kuch Lamho Ke Liye,
Aaj Fir Tarste Hain Hum Un Lamho Ke Liye,
Khuda Ne Kaha Kuch Maang Lo,
Maine Kaha Wo Lamhe Fir De Do Kuch Lamho Ke Liye.

368

थोड़ी मस्ती थोड़ा सा ईमान बचा पाया हूँ,
ये क्या कम है मैं पहचान बचा पाया हूँ,
कुछ उम्मीदें,
कुछ सपने,
कुछ महकती यादें,
जीने का मैं इतना ही सामन बचा पाया हूँ।

369

Kitna Aur Badalu Khud Ko Zindagi Jeene Ke Liye,
Ai Zindagi Mujhko Thoda Sa Mujhmein Baki Rehne De.

370

Ab To Kuch Apni Tabiyat Bhi Juda Lagti Hai,
Saans Leta Hun To Zakhmo Ko Hawa Lagti Hai,
Kabhi Razi To Kabhi Mujse Kafa Lagti Hai,
Zindgi Tu Hi Bata Tu Meri Kiya Lagti Hai.

371

ज़िंदगी जिसका बड़ा नाम सुना है हमने,
एक कमजोर सी हिचकी के सिवा कुछ भी नहीं।

372

ज़िन्दगी से बस यही गिला है,
ख़ुशी के बाद क्यों ये गम मिला है,
हमने तो उनसे वफ़ा की थी,
पर नहीं जानते थे कि बेवफाई ही वफ़ा का सिला है।

373

ज़िंदादिली होती है जिन्दगी,
इश्क मे घुली होती है जिन्दगी,
तुमसे मिलने कि तमन्ना रखती है जिन्दगी,
लेकिन तक़दीर नही मिलने देती है जिन्दगी।

374

जो आपकी किस्मत में लिखा है वो भाग कर आयेगा,
और जो किस्मत में नही लिखा है वो आकर भी भाग जायेगा।

375

Apane Apane Hausale
Apani Talab Ki Baat Hai
Chun Liyaa Hamne Unhen
Saaraa Jahaan Rahane Diyaa

376

Saath Rehte Yuhin Waqt Guzar Jayega,
Door Hone Ke Baad Kaun Kise Yaad Aayega,
Jee Lo Ye Pal Jab Humsath Hai,
Kal Ka Kya Pata,
Waqt Kahan Le Jayega.

377

ज़िन्दगी के लिए जान जरुरी है,
पाने के लिए अरमान ज़रूरी है,
हमारे पास चाहे हो कितना ही गम,
पर आपके चेहरे पर मुस्कान ज़रूरी है.

378

मत सोच इतना….
जिन्दगी के बारे में
जिसने जिन्दगी दी है
उसने भी तो कुछ सोचा होगा!

379

Ye Zindagi Bhi Kitna Tadpati Hai,
Kabi Dil Ko Sehlati Hai Kabi Jalati Hai,
Kabhi Jeet Dilati Hai Kabi Haar Me Bebas Banati Hai,
Kabi Tufaan Me Kashti Paar Lagati Hai Kabi Dubati Hai.

380

छु ले आसमान जमीन की तलाश न कर,
जी ले जिंदगी खुशी की तलाश न कर,
तकदीर बदल जाएगी खुद ही मेरे दोस्त,
मुस्कुराना सीख ले वजह की तलाश न कर.

381

Zindagi Hasne Ka Naam Hai,
Rona Kis Kaam Ka,
Jaane Wale Chale Gaye,
Unke Liye Dil Dukhana Kis Kaam Ka..

382

खुबसूरत सा एक पल​ ​क़िस्सा बन जाता है,
​जाने कब कौन ज़िन्दगी का​ ​हिस्सा बन जाता है,
​कुछ लोग ज़िन्दगी में ऐसे मिलते हैं ​जिनसे​
​कभी ना टूटने वाला रिश्ता बन जाता है!!

383

तेरे मेरे रिश्ते को क्या नाम दूँ,
यह नाम दूँ या वह नाम दूँ,
इस दुनिया की भीड़ मैं नाम हो जाते है बदनाम,
क्यों न अपने रिश्ते को बेनाम ही रहने दूँ.

384

ग़ैरों से पूछती है तरीका निज़ात का
अपनों की साजिशों से परेशान ज़िंदगी।

385

Socha Tha
Uss Se Bichrenge Toh Mar Jayenge,
Jaan Lewa Khauf Tha Bas,
Hua Kuch Bhi Nahi.

386

अभी सूरज नहीं डूबा जरा सी शाम होने दो,
मैं खुद लौट जाऊंगा मुझे नाकाम तो होने दो,
मुझे बदनाम करने का बहाना ढूंढ़ता है जमाना !!
मैं खुद हो जाऊंगा बदनाम पहले मेरा नाम तो होने दो!!

387

Parindo Ko Nahi Di Jati Taaleem Udaano Ki,
Woh Khud Hi Tay Karte Hai Manzil Asmano Ki,
Rakhta Hai Jo Housla Asman Ko Chune Ka,
Usko Nahi Hoti Parwah Gir Jane Ki.

388

जिंदगी मे कोई खास है,
तन्हाई के सिवा कुछ ना पास है,
पा तो लेंगे जिंदगी की हर खुशी,
पर हर खुशी मे तेरी कमी का एहसास है।

389

Zami Per Rah Kar
Asma Ko Chune Ki Fitrat Hai Meri.
Par Gira Kar Kisi Ko
Uper Uthane Ka Shook Nahi Mujhe.

390

Haa Ye Sach Hai K Mujhe Tumse Mohabbat Hai,
Ye Bhi Sach Hai K Main Tumhari Chahat Hun,
Par Meri Zindagi Me Chahato Ki Kami To Nahi,
Rishte Or Bhi Hai Ek Sirf Tum Hi To Nahi,
Apni Zaat K Is Pehlu Se Ajj Milwaaon Tumhe,
Main Kya Hun,
Kaise Hun Batlaaon Tumhe,
Apni Maa Ki Tarbiyat Hun Main,
Izzat Hon Apne Papa Ki,
Maan Hun Apne Bhai Ka,
Nishaan Hun Apni Behno Ki Parchai Ki,
To Behak Jaaon Main Yeh Kabhi Mumkin Hi Nahi,
Ke Dil Woh Sab Bhi To Rakhte Hai,
Ek Tum Hi To Nahi.

391

Zindagi Itni Aasan Nahi Hoti,
Isey Aasan Banana Padta Hai,
Kuch Nazar-Andaz Karke,
Kuch Bardasht Karke.

392

ज़िन्दगी में सफलता वही पाता है,
जिसे मुश्किलों से लड़ना आता है,
और रूठो को मनाना आता है.

393

करने लगे हिसाब -ऐ- जिन्दगी तो रो बैठे,
गिनते रहे सालों को और लम्हों को खो बैठे।

394

इसी का नाम ज़िन्दगी है
कुछ दबी हुई ख़्वाहिशें है,
कुछ मंद मुस्कुराहटें.
कुछ खोए हुए सपने है,
कुछ अनसुनी आहटें..
कुछ सुकून भरी यादें हैं,
कुछ दर्द भरे लम्हात..
कुछ थमें हुए तूफ़ाँ हैं,
कुछ मद्धम सी बरसात..
कुछ अनकहे अल्फ़ाज़ हैं,
कुछ नासमझ इशारे..
कुछ ऐसे मंझधार हैं,
जिनके मिलते नहीं किनारे..
कुछ उलझनें है राहों में,
कुछ कोशिशें बेहिसाब..
बस इसी का नाम ज़िन्दगी है चलते रहिये,
जनाब..!!

395

मुस्कान आपके होंठों से कही जाये नहीं,
आँसू आपके पलकों पे कभी आये नहीं,
पूरा हो आपका हर ख्वाब,
और जो पूरा न हो वो ख्वाब कभी आये नहीं।
Happy Birthday

396

Apni Aadat Hai Ke Dil Khol Dikhata Hun Main,
Yehi Hai Vajah Ke Sabhi Se Dhokha Khata Hun Main,
Bas Ranjish Hai Itni Mujhe Tujhse Eh Khudara,
Tere Logon Ko Kabhi Samajh Hi Nahi Pata Hun Main.

397

Kaun Puchta Hain,
Pinjre Mein Band Inn Panchiyon Ko,
Yaad Wo Hi Aate Hain,
Jo Urh Jatay Hain…

398

Chote Se Dil Me Gum Bahut Hai,
Zindagi Me Mile Zakhm Babut Hai,
Maar Hi Dalti Kab Ki Duniya Humein,
Kambakht Dosto Ki Duao Me Dam Bahut Hai.

399

Zindagi Lehar Thi Aap Sahil Hue,
Na Jaane Kaise Hum Aapki Dosti Ke Qabil Hue,
Na Bhulenge Hum Us Haseen Pal Ko,
Jab Aap Hamari Choti Si Zindagi Mei Shamil Hue.

400

Mana Ki Poojati Hai Duniya Chadte Sooraj Ko,
Kya Hua Hai Yaaro Jo Aaj Hamari Sham Hai,
Magar Yeh Bhi Wada Raha Aapse Hamara Dosto,
Dekhna Kal Ki Subah Humare Hi Naam Hai.

401

कल खो दिया आज के लिये,
आज खो दिया कल के लिये,
कभी जी ना सके हम आज आज के लिये,
बीत रही है जिदंगी.. कल आज और कल के लिये!

402

होना कया है,
ज़िन्दगी को भुगत रहा हूँ ज़िन्दगी के बिन

403

Mat Kar Gam Itna Tu Dil Tode Jane Ka,
Ki Khuda Hisab Rakhta Hai Har Bure Or Sayane Ka,
Ki Maut Aani Hogi Tab Ayegi,
Uthale Maza Zindagi Ke Paimane Ka.

404

कितना मुश्किल है ज़िन्दगी का ये सफ़र,
खुदा ने मरना हराम किया लोगो ने जीना।

405

Yaadoki Safar Me Chalte Hi Rehena,
Zindegi Me Har Pal Muskurate Rehana,
Mussibat Aaye To Khuda Ko Yaad Karna,
Aur
Zindegi Me Kisiko Kabhi Alvida Na Kehena.

406

दिल मैं हर राज़ दबा कर रखते है,
होंटो पर मुस्कराहट सजाकर रखते है,
ये दुनिया सिर्फ़ खुशी मैं साथ देती है,
इसलिए हम अपने आँसुओ को छुपा कर रखते है.

407

Bazaron Ki Chahal Pahal Se Roshan Hai
In Aankhon Mein Mandir Jaisi Sham Kahan,
Main Usko Pahchan Nahi Paya Toh Kya
Yaad Use Bhi Aaya Mera Naam Kahan,
Din Bhar Suraj Kiska Pichha Karta Hai
Roj Pahadi Par Jati Hai Sham Kahan,
Logo Ko Suraj Ka Dhoka Hota Hai
Aansu Bankar Chamka Mera Naam Kahan,
Dalano Ki Dhoop Chhaton Ki Sham Kahan
Ghar Ke Bahar Ghar Jaisa Aaram Kahan.

408

Ek Nafrat Hi Hain ..
Jise Duniya Lamho Mein Hi Jaan Leti Hai,
Varna Chahat Ka Pata Lagane Me To ..
Jamane Beet Jate Hai.

409

हम तो अक्सर इंसान के मुँह सुना करते थे
की वक्त बदलता है,
पर जब खुद आजमाइस की तो पता चला
यहाँ वक्त के साथ इंसान भी बदलता है।

410

Kehne Waalon Ka Kuch Nahi Jaata,
Sehne Waale Kamaal Karte Hain,
Kaun Dhoonde Jawaab Dardon Ke,
Log Toh Bas Sawaal Karte Hain.

411

अपनी जिंदगी के अलग असूल हैं,
यार की खातिर तो कांटे भी कबूल हैं,
हंस कर चल दूं कांच के टुकड़ों पर भी,
अगर यार कहे,
यह मेरे बिछाए हुए फूल हैं.

412

ज़िन्दगी कबकी खामूश हो गयी,
दिल तो बस आदतन धड़कता है.

413

Shaam Tak Subah Ki Najron Se Utar Jaate Hain,
Itne Samjhoton Pe Jeete Hain Ke Mar Jaate Hain.

414

नफरत सी होने लगी है इस सफ़र से अब,
ज़िंदगी कहीं तो पहुँचा दे खत्म होने से पहले।

415

किस्मत के मौको को देखो,
वक्त के घेरों को देखो,
कल का आप इंतज़ार न करो,
जो आज है आप बस उसी को देखो।

416

Ho Ke Mayoos Na Yu Sham Se Dhalte Rahiye
Zindagi Bhor Hain Suraj Sa Nikalte Rahiye,
Ek Hi Paon Pe Thahroge Toh Thak Jaoge,
Dhire-Dhire Hi Sahi Par Raah Pe Chalte Rahiye.

417

Main Khush Hun Teri Di Zindagi Se Khuda,
Mujh Jaisa Sabko Ghar Sansar Mile,
Jaisa Mujhko Diya Hai Aaj Mere Mola,
Aisa Jeevan Mein Sabko Pyar Mile…

418

कश्ती है पुरानी मगर दरिया बदल गया,
मेरी तलाश का भी तो जरिया बदल गया,
न शकल बदली न ही बदला मेरा किरदार,
बस लोगों के देखने का नजरिया बदल गया!

419

अगर बिकने पे आ जाओ तो…
घट जाते हैं दाम अक़सर,
न बिकने का इरादा हो…
तो क़ीमत और बढ़ती है|

420

Kabhi Palkon Pe Aansoo Hai,
Kabhi Lab Per Shikayat Hai,
Magar Aye Zindgi Phir Bhi,
Mujhe Tujh Se Mohabbat Hai,

421

Har Kisi Ki Zindagi Ka Maqsad
Ek Hi Hota Hain


Khud Chahe Kitne Hi Bewafa Kyu Na Ho,
Talash Humesha Wafaa Ki Hi Karta Hain.

422

थक गया हूँ तेरी नौकरी से ऐ ज़िन्दगी,
मुनासिब होगा के मेरा हिसाब कर दे।

423

Khushi Se Beete Har Din,
Har Suhani Raat Ho,
Jis Taraf Aapke Kadam Pare
Vaha Par Phoolo Ki Barsaat Ho..

424

तुझसे कोई शिकायत नहीं है ऐ जिदंगी
जो भी दिया है वही बहुत है मेरे लिए।

425

खुद को इतना भी मत बचाया कर,
बारिशें होतो भीग जाया कर,
चाँद लाकर कोई नहीं देगा,
अपने चेहरे से जगमगाया कर,
दर्द आँखों से मत बहाया कर,
काम ले कुछ हसीन होंठो से,
बातों-बातों में मुस्कुराया कर!

426

अब समझ लेता हूँ मीठे लफ़्ज़ों की कड़वाहट,
हो गया है ज़िंदगी का तजुर्बा थोड़ा थोड़ा।

427

ज़िन्दगी के उलझे सवालो के जवाब ढूंढता हु,
कर सके जो दर्द कम,
वोह नशा ढूंढता हु,
वक़्त से मजबूर,
हालात से लाचार हु मैं..
जो देदे जीने का बहाना ऐसी राह ढूंढता हु।

428

दिल मैं हर राज़ दबा कर रखते है,
होंटो पर मुस्कराहट सजाकर रखते है,
ये दुनिया सिर्फ़ खुशी मैं साथ देती है,
इसलिए हम अपने आँसुओ को छुपा कर रखते है।

429

Duniya Ka Har Shauk Pala Nahi Jata,
Kaanch Ke Khilono Ko Uchala Nahi Jata,
Mehnat Karne Se Mushqile Ho Jati Hai Aasan,
Kyunki Har Kaam Taqdeero Per Tala Nahi Jata.

430

Uske Chale Jaane Ke Baad,
Hum Mohabbat Nahi Karte Kisi Se,
Ek Choti Si Zindagi Hai,
Kis-Kis Ko Aazmate Rahenge.

431

एक उम्र गुस्ताखियों के लिये भी नसीब हो,
ये ज़िंदगी तो बस अदब में ही गुजर गई।

432

Jeene Ke Liye Socha Hi Nahi Dard Sambhalne Honge,
Muskuraye Toh,
Muskurane Ke Karz Utaarne Honge.

433

Udasiyo Ki Wajah To
Bahut Hai Zindagi Main,
Par
Bewajah Khush Rehne Ka Maaja Hi
Kuch Aur Hai.

434

ना किसी से ईर्ष्या,
ना किसी से कोई होड़,
मेरी अपनी मंजीले,
मेरी अपनी दौड़!!

435

समय जीवन में सब कुछ सिखा देता है,
और जो समय सिखा देता है,
वह जीवन में कोई नही सिखाता है।

436

है अजीब शहर की ज़िन्दगी
न सफ़र रहा न कयाम है,
कहीं कारोबार सी दोपहर
कहीं बाद मिजाज सी शाम है।

437

कश्ती है पुरानी मगर दरिया बदल गया,
मेरी तलाश का भी तो जरिया बदल गया,
ना शक्ल बदली ना अक्ल बदली,
बस लोगों के देखने का नजरिया बदल गया।

438

बेजान चीज़ो को बदनाम करने के
तरीके कितने आसान होते है….!
लोग सुनते है छुप छुप के बाते ,
और कहते है के दीवारो को भी कान होते हैं!

439

Kal Na Hum Honge Na Koi Gila Hoga,
Sirf Simti Hui Yaadon Ka Silsila Hoga,
Jo Lamhe Hain Chalo Haskar Bita Le,
Jaane Kal Zindgi Ka Kya Faisla Hoga.

440

Jhuta Apnapan To Har Koi Jatata Hai,
Woh Apna Hi Kya Jo Pal Pal Satata Hai,
Yakin Na Karna Har Kisi Par,
Kyu Ki Karib Hai Kitna Koi Yeh Toh Waqt Hi Batata Hai.

441

Ehsaas Na Kar Mere Jazbaaton Ka,
Nazron Se Gira Be Shak Lekin,
Jeena Bhi Mujhe Dushwar Lage,
Itna To Nazar Andaz Na Kar.

442

Seekh Raha Hu Dheere Dheere,
Iss Duniya K Rivaaz,
Jisse Matlab Nikal Jaye,
Usey Zindagi Se Nikaal Do.

443

समझ ना आया ऐ जिंदगी तेरा ये फलसफा,
एक तरफ कहती है सबर का फल मीठा होता है
और दूसरी तरफ कहती है
वक़्त किसी का इंतजार नही करता

444

Aapko Bhulane Ki Koshish Kar Raha Hun,
Varna Baad Mein Mujhko Hi Gham Rahega,
Aapko Toh Laakhon Hai Sahare Duniya Ke,
Baad Aapke Hamein Apna Kon Kahega.

445

जिंदगी उसी को आजमाती है,
जो हर मोडपर चलना जानता है,
कुछ पा कर तो हर कोई मुस्कुराता है,
जिंदगी उसी की है..
जो सबकुछ खो कर भी मुस्कुराना जानता है।

446

Maine Khuda Se Ek Dua Mangi,
Dua Mein Apni Maut Mangi,
Khuda Ne Kaha Maut Toh Tujhe De Du Main,
Par Use Kya Kahun Jisne Teri Lambi Umar Mangi.

447

इस दिल को किसी की आस रहती है,
निगाहों को किसी सूरत की प्यास रहती है,
तेरे बिना किसी चीज़ की कमी तो नही,
पर तेरे बेगैर जिन्दगी बड़ी उदास रहती है..

448

Kuchh Rishte Upar Wala Banata Hai,
Kuchh Rishte Log Banaate Hain,
Woh Log Bahut Khaas Hote Hain,
Jo Bina Rishte,
Rishta Nibhaate Hai.

449

रखा करो नजदीकियॉ
जिन्दगी का कुछ भरोसा नह
फिर मत कहना
चले भी गऐ और बताया भी नही!

450

Zindagi Mein Aise Log Bhi Hote Hai
Jinhen Ham Pa Nahi Sakate Sirf Chaah Sakate Hai

451

शतरंज‬ खेल रही है मेरी ‪जिंदगी‬ कुछ इस तरह,
कभी तेरी मोहब्बत मात देती है कभी मेरी ‪किस्मत‬।

452

मेरी जिन्दगी को तन्हाई ढूँढ लेती है,
मेरी हर खुशी को रुसवाई ढूँढ लेती है,
ठहरी हुई हैं मंजिलें अंधेरों में कबसे,
मेरे जख्म को गमे-जुदाई ढूँढ लेती है!

453

जिंदगी में कभी भी अपने हुनर पर घमण्ड मत करना,
क्योंकि जब पत्थर पानी में गिरता है
तो अपने ही वजन में डूब जाता है।

454

Is Kadar Dil Ko Dukhana Achha Nahi Hota,
Har Kisi Se Yun Dil Ko Lagana Achha Nahi Hota,
Kuchh Riste Hote Hain Aise Jinme Behtar Hai Dooriyan,
Itna Bhi Kisi Ke Paas Jana Achha Nahi Hota.

455

Humara Dil Tab Nahi Rota,
Jab Hum Kisi Ko Kho Dete Hain…
Dil To Tab Rota Hain
Jab Hum Khud Ko Kho Kar Bhi Kisi K Ho Nahi Pate….

456

ज़िन्दगी में कभी किसी पर मत भरोसा करो,
चलना है तो बस अपने पैरों पर चला करो।

457

खामोश बैठें तो लोग कहते हैं
उदासी अच्छी नहीं,
ज़रा सा हँस लें तो
मुस्कुराने की वजह पूछ लेते हैं !

458

Jindagi Ek Aisi Sougat Hoti Hai,
Jisme Khusi Or Gum Se Mulakat Hoti Hai,
Kuch Pana Hai To Gahrai Me Utarna Sikho,
Kinaro Se To Jindagi Ki Shuruat Hoti Hai.

459

हमारी खुशियाँ जरा जल्दी में थी इसलिए वो चली गई,
और गम की घड़ी जरा फुर्सत से आया थी इसलिये ठहर गई।

460

Ek Din Aayega Aisa Bhi Yaaro,
Mujhe Yaad Karega Sara Jahan,
Bas Bol Rahenge Mere Geeton Ke,
Mit Jayega Baaki Naamo Nishaa.

461

Ek Toote Huye Dil Ki Aawaaj Mujhe Kahiye,
Sur Jismein Hai Sab Ghum Ke Woh Saaz Mujhe Kahiye,
Main Koun Hoon Aur Kyaa Hoon Kiske Liye Zindaa Hoon,
Main Khud Bhi Nahi Samajhi Woh Raaz Mujhe Kahiye.

462

Kaato Mai Rehkar Bhi Zindagi Jee Lete Hain,
Har Jakhmo Ko Apne Hathon Se Si Lete Hain,
Jis Hath Ko Keh Diya Dosti Ka Hath,
Us Hath Se Jehar Bhi Pi Lete Hain.

463

ज़िन्दगी में कभी झुकना पड़े तो कभी मत घबराना,
क्योंकि झुकता वही है जिसमे जान होती है,
और अकड़ तो मुर्दे की पहचान होती है।

464

कल न हम होंगे न कोई गिला होगा,
सिर्फ सिमटी हुई यादों का सिलसिला होगा,
जो लम्हे हैं चलो हँसकर बिता लें,
जाने कल ज़िन्दगी का क्या फैसला होगा।

465

ज़रा सी बात देर तक रूलाती रही,
खुशी में भी आँखें आँसू बहाती रही..
कोई खो के मिल गया तो कोई मिल के खो गया,
ज़िंदगी हम को बस ऐसे ही आज़माती रही!

466

Kabi Kisi Ko Inta Yaad Mat Karo,
K Phir Bhoola Na Sako
Kabi Kisi Ko Inta Pyar Na Karo,
K Phir Nafraat Na Kar Sako…
Kabi Kisi Ko Apne Itne Karib Na Hone Do,
K Phir Apne Se Duur Na Kar Sako…

467

Khud Ko Padhta Hun Chhodh Deta Hun,
Duniya K Dukho Se Yun Muh Mod Leta Hun,
Itne Zakhm Hai Meri Nigahon Me Mere,
Dekh Khud Ko Main Aaina Har Roz Tod Deta Hun.

468

Dushman Ko Hazaar Mauke Do,
Ki Woh Tumhara Dost Ban Jaye.
Lekin Dost Ko Ek Bhi Mauka Mat Do,
Ki Woh Tumhara Dushman Ban Jaye.

469

ज़िन्दगी से पूछिये ये क्या चाहती है,
बस एक आपकी वफ़ा चाहती है,
कितनी मासूम और नादान है ये,
खुद बेवफा है और वफ़ा चाहती है।

470

Bhahut Roya Tha Jab Mera Janam Hua Tha,
Aur Hans Rahi Thi Ye Duniya,
Magar Doston Ek Din Badala Lunga,
Hansta Hua Jaunga Aur Royegi Ye Duniya.

471

सबकी अपनी अपनी जीने की शैली है,
किसी की चादर साफ किसी की मैली है,
आज तक सुलझा नहीं पाया है कोई,
जिंदगी तो बस एक अनसुलझी पहेली है।

472

राह संघर्ष की जो चलता है,
वो ही संसार को बदलता है।
जिसने रातों से जंग जीती है,
सूर्य बनकर वही निकलता है।

473

Zindagi Tasveer Bhi Hai Or Taqdeer Bhi Hain,
Farak To Bas Rango Ka Hain,
Maanchahe Rango Se Bane To Tasveer,
Or Aanjane Rango Se Bane To Taqdeer.

474

Phool Do Bar Nahi Khilta,
Janam Do Bar Nahi Milta,
Milne Ko Mil Jate Hai Hazaro,
Magar
Dilse Chahnewala Bar-Bar Nahi Milta.

475

ज़रा सी ज़िन्दगी
ज़रा सी ज़िन्दगी में,
व्यवधान बहुत हैं,
तमाशा देखने को यहां,
इंसान बहुत हैं!
कोई भी नहीं बताता,
ठीक रास्ता यहां,
अजीब से इस शहर में,
‘नादान’ बहुत हैं!
न करना भरोसा भूल कर भी किसी पे,
यहां हर गली में साहब बेईमान बहुत हैं!
दौड़ते फिरते हैं,
न जाने क्या पाने को,
लगे रहते हैं जुगाड में,
परेशान बहुत है!
खुद ही बनाते हैं हम,
पेचीदा ज़िन्दगी को,
वर्ना तो जीने के नुस्खे,
आसान बहुत हैं!

476

है अजीब शहर की ज़िंदगी
न सफर रहा न क़याम है
कहीं कारोबार सी दोपहर
कहीं बदमिजाज़ सी शाम है।

477

किसी दिन ज़िंदगानी में करिश्मा क्यूं नहीं होता,
हर दिन जाग जाता हूँ ज़िन्दा क्यूं नहीं होता,
मेरी इक ज़िन्दगी में कितने हिस्सेदार हैं लेकिन,
किसी की ज़िंदगी में मेरा हिस्सा क्यूं नहीं होता!

478

Aankh Kholu Toh Chehra Meri Maa Ka Ho,
Aankh Band Ho To Sapna Meri Maa Ka Ho,
Main Marr Bhi Jau Toh Koyi Gum Nahi Lekin,
Par Kaffan Mile To Dupatta Meri Maa Ka Ho.

479

सफर वहीं तक है जहाँ तक तुम हो,
नजर वहीं तक है जहाँ तक तुम हो,
हजारों फूल देखे हैं इस गुलशन में मगर,
खुशबू वहीं तक है जहाँ तक तुम हो.
Good Morning

480

Yaadein Aati Hain Yaadein Jati Hain,
Kabhi Kushiyan Toh Kabhi Gham Lati Hai,
Shikwa Na Karna Kabhi Kyuki Aaj Jo Zindagi Hai.
Wahi To Kal Ki Yaadein Keh Lati Hain.

481

सुकून-ए-ज़िंदगी

रुई का गद्दा बेच कर.. मैंने इक दरी खरीद ली,
ख्वाहिशों को कुछ कम किया मैंने और ख़ुशी खरीद ली..

सबने ख़रीदा सोना..मैने इक सुई खरीद ली,
सपनो को बुनने जितनी डोरी ख़रीद ली..

मेरी एक खवाहिश मुझसे मेरे दोस्त ने खरीद ली,
फिर उसकी हंसी से मैंने अपनी कुछ और ख़ुशी खरीद ली..

इस ज़माने से सौदा कर.. एक ज़िन्दगी खरीद ली,
दिनों को बेचा और शामें खरीद ली..

शौक-ए-ज़िन्दगी कमतर से और कुछ कम किये,
फ़िर सस्ते में ही “सुकून-ए-ज़िंदगी” खरीद ली!

482

चलते रहे कदम.. किनारा जरुर मिलेगा,
अन्धकार से लड़ते रहे सवेरा जरुर खिलेगा,
जब ठान लिया मंजिल पर जाना रास्ता जरुर मिलेगा,
ए राही न थक चल.. एक दिन समय जरुर फिरेगा।
Good Morning

483

Zindagi Mein Kabhi Kisi Ka Saath Nahi Chodna,
Kyun Ki Kuch Pal Lagte Hai Rishte Banane Mein,
Aur Kuch Pal Lagte Hai Rishte Mitane Mein,
Ek Pal Lagta Hai Kisi Ko Rulane Mein,
Aur Zindagi Beet Jati Hai Kisi Ko Bhulaane Mein.

484

Khuda Ka Shukar Hai Jo Us Ne Khwab Bana Diye,
Warna Tamanna Tum Se Milne Ki,
Kabhi Puri Nahi Hoti…

485

अपनी तो ज़िन्दगी है अजीब कहानी है,
जिस चीज़ की चाह है वो ही बेगानी है,
हँसते भी है तो दुनिया को हँसाने के लिए,
वरना दुनिया डूब जाये इन आखों में इतना पानी है।

486

ना संघर्ष न तकलीफ
तो क्या मज़ा है जीने में
बड़े बड़े तूफ़ान थम जाते हैं
जब आग लगी हो सीने में..

487

ज़िंदगी है थोड़ा आहिस्ता चल,
कट ही जाएगा सफ़र आहिस्ता चल,
एक अंधी दौड़ है किस को ख़बर,
कौन है किस राह पर आहिस्ता चल!

488

Zindagi Tu Koi Dariya Hai Ke Sagar Hai Koi,
Mujhko Maloom To Ho Kaun Se Paani Mein Hun Main.

489

हर किसी को जिंदगी दो तरीके से जीना चाहिये,
पहला जो हासिल है उसे पसन्द करना सीख लो,
और दूसरा पसन्द है उसे हासिल करना सीख लो।

490

Kudrat K Niymo Se Inayat Na Karna,
In Hasin Nazaro Se Kaymat Na Karna,
Wo Khud Dega Her Chiz Tumko Bas,
Waqt Se Pahle Pane Ki Khawhish Na Karna.

491

Dil Ki Aawaz Se Nagmein Badal Jate Hai,
Sath Na De To Apne Badal Jate Hai,
Palke Bhi Jara Samhal Ke Jhapkana Kyunki,
Palke Jhapkane Se Sapne Badal Jate Hai.

492

Agar Phisle To Utna Jante Hai,
Agar Dube To Tairna Jante Hai,
Agar Gire To Sammlna Jante Hai,
Agar Tut Gaye To Judna Jante Hai,
Pyar Ke Badle Pyar Dhutkar Ke Badle
Uphar Dena Jante Hai,
War Ka Pratikar
Aur
Har Ko Jit Me Badlna Jante Hai.

493

मत सताओ हमे हम सताए हुए है,
अकेला रहने का ग़म उठाये हुए है,
खिलौना समज के ना खेलो हम से,
हम भी उसी खुदा के बनाये हुए है…।।

494

दर्द कैसा भी हो कभी आँख नम ना करो,
रात काली सही लेकिन ग़म ना करो,
एक सितारा बन जगमगाते रहो,
ज़िन्दगी में यूँ ही सदा मुस्कुराते रहो।

495

कोई खुशियों की चाह में रोया,
कोई दुखों की पनाह में रोया,
अजीब सिलसिला हैं ये ज़िंदगी का..
कोई भरोसे के लिए रोया,
कोई भरोसा कर के रोया!!

496

इक टूटी-सी ज़िंदगी को समेटने की चाहत थी,
न खबर थी उन टुकड़ों को ही बिखेर बैठेंगे हम।

497

Sub Kuch Hasil Nahi Hota
Zindagi Mein Yahan,
Kisi Ka ‘Kaash’
To Kisi Ka ‘Agar’
Rah Hi Jaata Hai…!!

498

Jabse Mulakat Huyi Hai Unse Meri,
Tabse Mere Dil Ko Karaar Aaya,
Kabhi Zulph Lahraai Kabhi Nakhara Kiya,
Unki In Adaaon Par Bahut Pyar Aaya.

499

Ek Shabd Hai Mohabbat
Ise Kar Ke Dekho Tum Tadap Na Jao Toh Kehna,
Ek Shabd Hai Mukaddar
Isse Ladkar Dekho Tum Haar Na Jao Toh Kehna,
Ek Shabd Hai Wafa
Zamane Me Nahi Milti,
Kahin Dhoond Pao Toh Kehna,
Ek Shabd Hai Aansu
Dil Me Chhupa Ka Rakho,
Tumhari Aankh Se Na Nikle Toh Kehna,
Ek Shabd Hai Judai
Ise Seh Kar Toh Dekho,
Tum Toot Kar Bikhar Na Jao Toh Kehna,
Ek Shabd Hai Bhagwan
Use Pukar Kar Toh Dekho,
Sab Kuchh Na Pa Lo Toh Kehna.

500

Kahin Par Dharam Bante Hain,
Kahin Par Imaan Bante Hain,
Kahin Par Hindu,
Sikh,
Isai To
Kahin Muslmaan Bante Hain,
Hamari Mehfil Main Akar Dekh “Saki”
Yahan Insaan Hi Insan Bante Hain.

501

रोया हूँ बहुत तब जरा करार मिला है,
इस जहाँ में किसे भला सच्चा प्यार मिला है,
गुजर रही है जिंदगी इम्तिहान के दौर से,
एक ख़तम तो दूसरा तैयार मिला है।

502

सड़क कितनी भी साफ हो
“धुल” तो हो ही जाती है..!!

503

Mile Jo Agar Khuda Toh Puchhenga Use,
Ki Meri Kismat Ko Aisa Kyun Bana Diya,
Jhukna Pada Mujhe Har Chhote Bade Ke Saamne,
Itna Neeche Kyun Mujh Ko Gira Diya.

504

मंज़िलो से अपनी डर ना जाना,
रास्ते की परेशानियों से टूट ना जाना,
जब भी ज़रूरत हो ज़िंदगी मे किसी अपने की,
हम आपके अपने है ये भूल ना जाना!

505

Ae Phool Mujhe Bata Tu Aaj Tak Kyun Khilta Raha,
Tune To Di Sabko Khusbuoo Tujhko Kya Milta Raha,
Phool Ne Kaha Tu Abhi Nadan Hai Pyar Ke
Sachhe Matlab Se Anjan Hai,
Dene Ke Badle Lena,
Wo To Ek Vyapar Hai,
Jo Dekar Bhi Kuch Na Mange Wahi To Sachha Pyar Hai…

506

ये ज़िन्दगी हमे इतना क्यों सिखाया करती है,
हमारी जिंदगानी सदियों में थोड़े ही गुजरा करती है,
ये तो बस दो पल की ही हुआ करती है।

507

थोड़ी मस्ती थोड़ा सा ईमान बचा पाया हूँ,
ये क्या कम है मैं अपनी पहचान बचा पाया हूँ,
कुछ उम्मीदें,
कुछ सपने,
कुछ महकती यादें,
जीने का मैं इतना ही सामान बचा पाया हूँ।

508

याद करते है तुम्हे तनहाई में,
दिल डूबा है गमो की गहराई में,
हमें मत ढूंढना दुनिया की भीड़ में,
हम मिलेंगे में तुम्हे तुम्हारी परछाई में।

509

जो लम्हा साथ है उसे जी भर के जी लेना,
ये कम्बख्त जिंदगी भरोसे के काबिल नहीं है।

510

Teri Rahmat Ne Mere Daata,
Mujhko Jeena Sikha Diya,
Na Raha Kisi Se Bhi Sikwa,
Jakhmon Ko Seena Sikha Diya.

511

Zindagi Jina Aasaan Nahi Hota,
Bina Sangharsh Koi Mahan Nahi Hota,
Jab Tak Na Pade Hathodi Ki Maar,
Tab Tak Patthar Dil Bhi Naram Nahi Hota.

512

Woh Bachpan Ki Baatein Woh Bachpan Ki Yaadein,
Hun Ko Hardam Bahut Hi Yaad Aati Hain,
Ab Toh Humko Bas Yeh Dekhna Hain Baaki,
Ki Yeh Zindagi Humko Kahan Lekar Jati Hai.

513

Logo Se Kah Do Humari Takdeer Se Jalna Chod De,
Hum Ghar Se Dawa Nahi Bhagwan Ki Dua Lekar Nikalte Hai,
Koi Na De Hume Khush Rahne Ki Dua,
To Bhi Koi Baat Nahi,
Vaise Bhi Hum Khusiya Rakhte Nahi,
Baant Diya Karte Hai.

514

वही रंजिशें वही हसरतें,
न ही दर्द ए दिल में कमी हुई,
है अजीब सी मेरी ज़िन्दगी,
न गुजर सकी न खत्म हुई।

515

किसी ने क्या खूब कहा है,
ज़िन्दगी के सिर्फ दो दिन है,
एक दिन आपके हक में होती है,
और एक दिन आपके खिलाफ होती है,
जिस दिन आपके हक में हो तो कभी अभिमान मत करना,
और जिस दिन आपके खिलाफ हो तो थोड़ा सब्र करना।

516

मुस्कराना चाहा मुसकरा ना सके,
गीत भी खुसियो के हम ग ना सके,
पड़े तो कभी अपने बनते नहीं,
हम तो अपनों को भी अपना बना ना सके.

517

Kisi Ko Aankhoo Ka Nasha Tha,
Kisi Ko Batoon Ka Nasha Tha,
Hum Nashe Ki Paimaaish Ginte Reh Gaye,
Kyonki Humein Har Waqt Bus,
Likhne Ka Nasha Tha.

518

छोड़ ये बात कि मिले ज़ख़्म कहाँ से मुझको,
ज़िंदगी इतना बता कितना सफर बाकी है।

519

Zindagi Ki Aise Daud Mein…
Daud Ke Karna Kya Hai!!
Jab Yehi Jeena Hai Dosto To Phir…
Marna Kya Hai!!

520

थक गया हूँ तेरी नौकरी से ऐ जिन्दगी,
मुनासिब होगा मेरा हिसाब कर दे।

521

जिंदगी में मीठा झूठ बोलने से अच्छा है,
कड़वा
झूठ बोला जाए,
इससे आपको झूठे दोस्तों से अच्छे सच्चे दुश्मन तो मिलेंगे।

522

एक अजीब सी दौड़ है ये ज़िन्दगी….
जीत जाओ तो कई अपने पीछे छूट जाते हैं,
हार जाओ तो अपने ही पीछे छोड़ जाते हैं ।

523

Kya Khubsurat Ye Nazaare Hai,
Kya Khubsurat Ye Sama Hai,
Dekho Duniya Ko Meri Nazorn Se,
Yahan To Bas Har Jagah Bas Khuda Hai,
Kya Soch Kar Banayi Hogi Usne Duniya,
Har Daal Par Jhulne Ko Panchi Khada Hai.

524

ज़रा मुस्कुराना भी सीखा दे ऐ ज़िंदगी,
रोना तो पैदा होते ही सीख लिया था।

525

ऐ इंसा तू अपनी तारीफ मत कर वो वे फज़ूल है,
क्योंकि खुसबू खुद ही बता दिया करती है ये कोन सा फूल है।

526

Jo Chand Lamho Me Cut Jaye Wo Kya Zindagi
Jo Aansoo Me Beh Jaye Woh Kya Zindagi
Zindagi Ka Toh Falsafa Kuch Aur Hi Hain,
Jo Har Kisi Ko Samaj Aaye Wo Kya Zindagi.

527

उनको ये शिकायत है कि मैं बेवफाई पे नहीं लिखता,
और मैं सोचता हूं कि मैं उनकी रुसवाई पे नहीं लिखता..
ख़ुद अपने से ज्यादा बुरा जमाने में कौन है?
मैं इसलिए औरों की बुराई पे नहीं लिखता..
कुछ तो आदत से मजबूर हैं और कुछ फितरतों की पसंद है
जख्म कितने भी गहरे हों,
मैं उनकी दुहाई पे नहीं लिखता!

528

जवाब उसका बंद है,
मेरा सवाल बंद है,
कई दिनों से ज़िंदगी से बोल-चाल बंद है!

529

Juda Tumse Hokar Na Ji Paaunga Main,
Usi Pal Tadap Tadap Kar Mar Jaaunga Main,
Tere Sang Hi Jeevan Bitana Hai Mujhko,
Tere Bina Na Kuchh Bhi Ban Paaunga Main.

530

Haskar Jeena Dastoor Hai Jindagi Ka
Ek Yai Kissa Mashoor Hai Jindagi Ka
Beete Hue Pal Kabi Laut Kar Nai Aate
Yahi Sabse Bada Kasoor H Jindagi Ka

531

ज़िन्दगी में कभी उदास मत होना
कभी किसी बात पर निराश मत होना
ये ज़िन्दगी एक संगर्ष है
चलती ही रहेगी

532

Khushiya Itni Ho Ki Aankhon Me Ansu Jam Jaye,
Lamhe Ho Itne Hasin Ki Waqt Bhi Tham Jaye,
Dosti Nibhayenge Hum Apse Is Tarha,
Ki Saath Guzra Har Pal Zindagi Ban Jaye.

533

Kya Baat Kahiye Duniya Ki,
Har Shakhs Ke Apne Afsaane Hain,
Jo Saamne Hai Usse Log Bura Kehte Hain,
Jisko Dekha Nahi Kabhi Usse Khuda Kehte Hain!!

534

A Smile Is Like A Sim Card &
Life Is Like Cell Phone
Whenever You Insert The
Sim Card Of A Smile
A Beautiful Day Is Activated
Good Morning

535

दिन कुछ ऐसे
दिन कुछ ऐसे गुजारता है कोई,
जैसे ऐहसान उतारता है कोई,
आईना देखकर तसल्ली हुई,
हमको इस घर मे जानता है कोई,
पक गया है सजर मे फल शायद,
फिर से पत्थर उछालता है कोई,
दूर तक गूंजते है सन्नाटे,
जैसे हमको पुकारता है कोई!

536

Kabhi Kabhi Khamoshi Bhi Bahut Kuch Keh Jati Hai,
Tarapne Ke Lie Bahut Kuchh Chhor Jati Hai,
Life Ho Ya Sigrate,
Jalne K Baad Sirf Rakh Hi Chhor Jati Hai.

537

ज़िन्दगी की हसीन राह पर तुम मुझसे आकर टकरा गए,
दिखाकर आँखों को ख्वाब प्यारा सा,
फिर उसे भिखरा गए,
फूल अरमानों के जो भी खिले मेरे दिल में सब मुरझा गए,
खुशियों को मेरी लूटकर तुम,
गमो के बादल बरसा गए!

538

“मुझे तैरने दे या फिर बहना सिखा दे,
अपनी रजा में अब तू रहना सिखा दे,
मुझे शिकवा ना हो कभी भी किसी से,
हे ईश्वर !!
मुझे सुःख और दुःख के पार जीना सिखा दे| “

539

हद-ए-शहर से निकली तो गाँव गाँव चली,
कुछ यादें मेरे संग पाँव पाँव चली,
सफ़र जो धूप का किया तो तजुर्बा हुआ,
वो जिंदगी ही क्या जो छाँव छाँव चली।

540

साँसे भी तो इंसान से जुदा हुआ करती हैं,
तो मोहब्बत ही क्यों ये इलज़ाम सहा करती है।

541

ज़िन्दगी लहर थी आप साहिल हुए,
न जाने कैसे हम आपकी दोस्ती के काबिल हुए,
न भूलेंगे हम उस हसीं पल को,
जब आप हमारी छोटी सी ज़िन्दगी में शामिल हुए.

542

Zindagi Se Pucho Ye Kya Chahti Hai,
Bas Ek Dil Se Wafa Chahti Hai,
Kitni Masoom Or Nadaan Hai Zindagi,
Khud To Bewafa Hai Aur Dusro Se Wafa Chahti Hai !!!

543

Eh Zindagi Jaate Jaate Meri Duaen Leto Ja,
Dil Se Bhula Dena Har Ek Khata,
Saja Jo Bhi Deni Ho Mujhe Woh Bhi Deti Ja,
Ki Ab Toh Teri Yaad Ke Siwa Nahi Kuchh Bacha.

544

महफ़िल में चल रही थी मेरे कत्ल की तैयारी,
हमे देख कर बोले बहुत लम्बी उम्र है तुम्हारी।

545

Es Zulm Ki Duniya Mein Faqat Pyar Mere Papa
Hain Mere Liye Saya-E-Deewar Mere Papa,
Nafrat Ke Jazeron Se Mohabbat Ki Hadon Tak,
Bass Pyaar Hi Pyaar Hai Bas Pyar Mere Papa

546

एक साँस सबके हिस्से से… हर पल घट जाती है,
कोई जी लेता है जिंदगी तो किसी की कट जाती है।

547

कहीं बेहतर है तेरी अमीरी से मुफलिसी मेरी,
चंद सिक्कों के लिए तुने क्या नहीं खोया है,
माना नहीं है मखमल का बिछोना मेरे पास,
पर तु ये बता,
कितनी राते चैन से सोया है।

548

Mujhe Tohfe Diye Har Kadam Khuda Ne,
Bhale Hi Dukhon Se Meri Jholi Bhari Hai,
Na Jaane Kaisi Likhi Hai Meri Takdeer,
Har Mod Par Ek Nayi Musibat Khadi Hai.

549

Teri Mohabbat Ke Pyase The,
Isliye Haath Faila Diya Humne,
Warna Hum To Khud Ki,
Zindagi Ke Liye Bhi Dua Nahi Karte….

550

Ab Aansoonon Ko Aankhon Me Sajana Hoga,
Charaag Bujh Gaye Khud Ko Jalana Hoga,
Na Samajhna Ki Tumse Bichadke Khush Hain Hum,
Hamein Logon Ki Khatir Muskurana Hoga..

551

जब फैसला आसमान वाले का होता है,
तब कोई बकालत जमीन वाले की नही होती है।

552

Kinare Bante Hai Bigadte Hai.
Is Darse Lahro Ka Aana Jana Kabhi Kam Ni Hota
Jindgi Me Tufano K Aane Se Armano Ka
Dagmagana Kabhi Kam Ni Hota.

553

Har Waqt Bas Saza Mukarrar Kerti Rehti Hai Tu,
Kabhi Toh De Mujhe Mohabbat Ka Inaam Zindgi.

554

शतरंज‬ खेल रही है मेरी ‪जिंदगी‬ कुछ इस तरह,
कभी तेरी मोहब्बत मात देती है कभी मेरी ‪किस्मत‬।

555

जब भी इस जिंदगी को देखती हूँ
हर पल नई नज़र आती है हमे,
जब भी पीछे मुड कर देखते है सोचते है
ये जिंदगी कहां ले आई हमे,
कभी खुशियाँ कभी गम आते है
जिन्दगी में हमारी,
जब आगे जिंदगी में देखने की कोशिश करते है
एक नया रिश्ता दिखाई देता है हमे।

556

एक मुद्दत से मेरे हाल से बेगाना है;
जाने ज़ालिम ने किस बात का बुरा माना है;
मैं जो जिंदगी हूँ तो वो भी हैं अना का कैदी;
मेरे कहने पर कहाँ उसने चले आना है।

557

Chubhati To Hai Jindgi Bhi,
Jab Sathi Nahi Milata Koi,
Khamosiyo Ko Mitane Wala Milta Nahi Koi,
Magr Khamosh Rehne Ka Aaj Yug Mein Koi Fayda Nahi,
Kyuki Khamoshi Ka Fayda Uthata Hai Har Koi.

558

Hath Pe Likha Tha Naam Unka .
Vo Mitta Kar Hi Chlle Gye
Hum Unke Liye Hi Khush The
Likin Vo Hme Hi Rullla Kar Chlle Gye

559

एक और ईंट गिर गई दीवार ए जिंदगी से
नादान कह रहे हैं नया साल मुबारक हो

560

ज़िन्दगी में जिन दिलो में दरारें पड़ जाया करती हैं,
उन दिलो में कभी दोबारा प्यार नही बसा करता है,
और चाहे कितना भी सजा लो कब्रो को,
वहाँ कब्रिश्तान कहाँ बसा करता है।

561

Ye Duniya Hai Yahan Pe,
Yeh Tamasha Ho Bhi Sakta Hai,
Abhi Jo Gham Hamara Hai,
Tumhara Ho Bhi Sakta Hai,
Tum Apne Aap Ko Hargiz,
Koi Ilzaam Mat Dena,
Ye Soda Hai Mohabbat Ka,
Khasara Ho Bhi Sakta Hai
Tum Yeh Mat Samajhna,
Tum Hi Meri Akhri Mohabbat Ho,
Mohabbat Jurm Hai,
Hum Se Dobara Ho Bhi Sakta Hai.

562

सच बिकता है झूठ बिकता है
बिकती है हर कहानी,
तीनों लोक में फैला है फिर भी
बिकता है बोतल में पानी।

563

लोग डूबते हैं तो समंदर को दोष देते हैं,
मंजिल न मिले तो मुकद्दर को दोष देते हैं,
खुद तो संभल कर चल नहीं सकते लोग,
जब ठोकर लगती है तो पत्थर को दोष देते हैं।

564

अब तो हम अपनी किस्मत की लकीरो पर यकीन किया नही करते है,
जब यहाँ आज कल लोग बदल जाया करते है,
तो हम अपनी किस्मत क्यों नही बदल लिया करते है।

565

Choti Choti Baton Ko Dil Se Lagate Nahi,
Jara Si Baat Pe Apno Se Rooth Jate Nahi,
Bada Aasan Hai Kehna Ke Bhool Jayenge Hum,
Par Dil Me Rehne Wale Dil Se Kabhi Jate Nahi.

566

जी रहे है तेरी शर्तो के मुताबिक़ ए जिंदगी,
दौर आएगा कभी,
हमारी फरमाइशो का भी।

567

Duniya Ki Bheed Mein Hum Us Insaan Ko Dhundte Rahe,
Jo Hamien Bhi Zindagi Jeena Sikha De,
Mile Bahut Par
Har Koi Zindagi Me Aane Ki Wajah Suna Gaye.

568

Kyon Waqt Ke Saath Rangat Kho Jati Hai,
Hasti Khelti Jindgi Bhi Aam Ho Jati Hai,
Ek Savera Tha Jab Haskar Utha Karte The Hum,
Aaj Bina Muskuraye Hi Shaam Ho Jaati Hai.

569

Rab Insan Ke Irade Aajmata Hai,
Khwabo Ki Chadar Aankho Se Hatata Hai,
Har Rishte Ka Ehsaas Dil Mein Rakhiyega,
Kyoki Ek Ehsaas Hi Hai,
Jo Rishto Ko Banata Hai.

570

एक खुबसूरत एहसास है जिंदगी,
एक खुली किताब है जिंदगी,
जिंदगी जरा सही से जी कर तो देखो,
एक अनसुनी हकीकत है जिंदगी।

571

Zindagi Hamari Sitam Ho Gayi,
Khushi Na Jane Kaha Dafan Ho Gayi,
Bahut Likha Khuda Ne Logoe Ki Kishmat,
Par Hamari Bari Aayi To,
Sihayi Hi Khatam Ho Gayi..!!

572

उदास लम्हों की न कोई याद रखना,
तूफ़ान में भी वजूद अपना संभाल रखना,
किसी की ज़िंदगी की ख़ुशी हो तुम,
बस यही सोच तुम अपना ख्याल रखना।

573

Sitaro Se Bhari Is Raat Me,
Jannat Se Bhi Khubsurat Khwab Apako Aaye,
Itani Haseen Ho Aane Wali Subah Ki,
Mangane Se Pahale Hi Apaki Har Murad Puri Ho Jaye.
Good Night.

574

Itni Bad-Saluki Na Kar Aye Zindgi,
Hum Kaun Sa Yehan Baar Baar Aane Wale Hain.

575

Tezz Raftar Zindagi Ki
Ye Aalam He In Dino Yaaro,
Ki Subah K Ghum Bhi
Sham Ko Purane Lagte Hai!

576

Jo Aata Hai Woh Jaata Hai,
Yeh Duniya Aani Jaani Hai,
Yehan Her Shaks Musafir Hai,
Safar Mein Zindagani Hai,

577

जिंदगी में कभी माँ के पहनावे पर शर्म नही करनी चाहिये,
और जिंदगी में कभी बाप की गरीबी पर शर्म नही करनी चाहिये।

578

गुलाब खिलते रहे ज़िंदगी की राह् में,
हँसी चमकती रहे आप कि निगाह में.
खुशी कि लहर मिलें हर कदम पर आपको,
देता हे ये दिल दुआ बार–बार आपको.

579

गुस्सा अक्सर बहुत चालाक हुआ करता है,
क्योंकि ये सिर्फ कमजोरो पर ही निकला करता है।

580

Zindagi Hasin Hai Zindagi Se Pyaar Karo,
Hai Rat To Subah Ka Intzar Karo,
Wo Pal Bhi Ayega Jiska Intzaar Hai Aap Ko,
Rab Pr Bhrosa Aur Waqt Pe Aitbar Rakho.

581

Kudrat Ka Yeh Usul Hai,
Ki Aana Jana Hai Bari Bari,
Kya Karenge Yaaro Woh Mohabbat,
Jinko Sirf Dhan Daulat Hai Pyari.

582

Kabhi Aisi Bhi Berukhi Dekhi Hai Humne
Ke Log Aap Se Tum Tak,
Aur Tum Se Jaan Tak,
Fir Jaan Se Anjaan Tak Ho Jate Hain..

583

Sab Matlab Se Nata Rakhte Hain,
Matlab Nikalte Hi Chhod Dete Hain,
Samjhate Hain Dil Ko Khilona Koi,
Khel Kar Fir Ise Tod Dete Hain.

584

आराम से तन्हा कट रही थी तो अच्छी थी,
ज़िन्दगी तू भी कहाँ दिल की बातों में आ गयी।

585

सफर ज़िन्दगी का बहुत ही हसीन है,
सभी को किसी न किसी की तालाश है,
किसी के पास मंज़िल है तो राह नहीं,
और किसी के पास राह है तो मंज़िल नहीं।

586

जिन्दगी लत है…
हर लम्हे से बेपनाह मोहब्बत है,
मुश्किल और सुकून की कशमकश में,
जिंदगी यूं ही जिये जाता हूँ।

587

Sab Log Rah Guzar Nahi Hote,
Sath Chalne Wale Humsafar Nahi Hote,
Kitna Dard Hota Haio Un Logo Ke Dilo Main,
Pucho Un Logo Se Jinke Apne Bhi Apne Nahi Hote.

588

जिंदगी के राज़ को राज़ रहने दो,
अगर है कोई ऐतराज़ तो रहने दो,
पर जब दिल करे हमें याद करने को,
तो उसे ये मत कहना के आज रहने दो।

589

उदासियों की वजह तो बहुत सारी हैं ज़िन्दगी में,
पर बेवजह खुश रहने का मज़ा ही कुछ और है।

590

जिंदगी तुझसे हर कदम पर समझौता क्यों किया जाय,
शौक जीने का है मगर इतना भी नहीं कि मर मर कर जिया जाए।
जब जलेबी की तरह उलझ ही रही है तू ए जिंदगी
तो फिर क्यों न तुझे चाशनी में डुबा कर मजा ले ही लिया जाए!

591

जाने क्या मुझसे ज़माना चाहता है,
मेरा दिल तोड़कर मुझे ही हसाना चाहता है,
जाने क्या बात झलकती है मेरे इस चेहरे से,
हर शख्स मुझे आज़माना चाहता है

592

मंजिल मिले ना मिले
ये तो मुकदर की बात है !!
हम कोशिश भी ना करे
ये तो गलत बात है….!!

593

Kismat Se Apni Sabko Sikayat Kyu Hoti Hai,
Jo Nahi Milta Usi Se Mohabbat Kyu Hoti Hai,
Kitne Khade Rahte Hain Raahon Mein Dil Ki Fir Bhi,
Dil Ko Usi Ki Mohabbat Kyu Hoti Hai.

594

जिस दिन बंद कर ली हमने आंखें,
कई आँखों से उस दिन आंसु बरसेंगे,
जो कहते हैं के बहुत तंग करते है हम,
वही हमारी एक शरारत को तरसेंगे.

595

Bheed Mein Humko Tanha Rahna Aata Hai,
Tanhai Ko Mefil Karna Aata Hai,
Jab Na Samjhe Koi Apne Dil Ki Baat,
Aise Mein Fir Chup Bhi Rahna Aata Hai,
Taano Ke Tum Teer Chalao Fir Bhi Hamein,
Thanthak Jakhmon Par Bhi Rakhna Aata Hai,
Is Akshar Ko Chahe Koi Na Samjhe,
Pyar Ke Naam Par Humko Marna Aata Hai,
Shabnam Duniya Chahe Sataye Lakh Magar,
Humko Hak Ki Khatir Ladna Aata Hai.

596

Zindgi Kaaton Ka Safar Hai,
Hosle Iski Pehchan Hai,
Raastey Par To Sabhi Chlte Hain,
Jo Raaste Banaye Wo Insaan Hai

597

Zindagi Me Kuch Aise Log Hain,
Jo Haqiqat Mein To Samne Aate Nahi,
Aur Sapno Me Aakar Jaate Bhi Nahi…

598

ज़िंदगी का हर वो रंग दिलकश लगता है,
जो आपके प्यार में हम’पर चढ़ता है …!!!

599

Dil Me Aap Ki Yaaden Ne Kar Liya Hai Makaam,
Umar Bhar Aapki Yaad Rahegi Paigham,
Aap Ki Is Dosti Ne Kar Diya Hame Ghulam,
Are Jaathe Jaathe Usthaadon Lelo Hamari Salaam.

600

इतनी बदसलूकी ना कर… ऐ ज़िंदगी,
हम कौन सा यहाँ बार-बार आने वाले हैं।

601

फिक्र है सबको खुद को सही साबित करने की,
जैसे ये ज़िंदगी,
ज़िंदगी नहीं,
कोई इल्जाम है।

602

कदर कर लो उनकी जो तुमसे,
बिना मतलब की चाहत करते है,
दुनिया मे ख्याल रखने वाले कम,
और तकलीफ देने वाले ज्यादा होते है!

603

Lamho Ki Ek Kitaab Hain Zindagi,
Saanso Aur Khayalo Ka Hissab Hai Zindagi,
Kuch Jarurate Puri Kuch Khwaishe Aduri,
Bas Inhi Sawalon Ka Jawab Hain Zindagi.

604

चलो! थोड़ी मुस्कुराहट बाँटते है..
थोड़ा दुख तकलीफों को डाँटते है..
क्या पता ये साँसे चोर कब तक हैं?
क्या पता ‘जिन्दगी की चरखी’ में ड़ोर कब तक हैं?

605

Kyo Koi Chah Kar Dosti Nibha Nahi Pata,
Kyo Koi Chah Kar Rishta Bana Nahi Pata,
Kyo Leti Hai Zindagi Aisi Karwat,
Ki Koi Chahkar Bhi Pyar Jata Nahi Pata.

606

अपनी ही तरह से परेशान है हर कोई,
इस तपती धूंप के लिए कोई दरख़्त नहीं है,
किसी के पास खाने के लिये रोटी नहीं है,
और किसी के पास रोटी खाने का वक़्त नहीं है!

607

Jo Likha Meri Takdeer Mein Hai,
Woh Yahan Mujhe Mil Hi Jaayega,
Varna Rone Se Ya Mangne Se,
Koi Kya Haasil Kar Paayega.

608

आज कल सच कहो तो इंसान खफा होता है,
और झूठ कहो तो लफ़्ज़ों को दर्द होता है।

609

Kismat Mein Likha Humse Koi Nahi Chieen Sakta,
Agar Ho Khuda Ki Rehmat Toh,
Wo Bhi Mil Jayega Jo Humara Kabhi Ho Nahi Sakta.

610

आहिस्ता चल ऐ ज़िन्दगी
कुछ क़र्ज़ चुकाने बाकी हैं,
कुछ के दर्द मिटाने बाकी हैं
कुछ फ़र्ज़ निभाने बाकी हैं।

611

Pyar Ko Jataane Wale Bahut Dekhe Hain Humne,
Magar Pyar Ko Nibhate Dekha Nahi Hai Koi,
Jaan De Denge Aapke Bina Hum Sabhi Kahte Hain,
Magar Jaan Ko Lutata Dekha Nahi Hai Koi.

612

डरते है आग से कही जल न जाये
डरते है ख्वाब से कहीं टूट न जाये
लेकिन सबसे ज़्यादा डरते है आपसे
कहीं आप हमें भूल न जाये।

613

Mujhe Zindagi Ka Itna Tajurba Toh Nahin Hai Dosto,
Par Log Kahte Hain Yehan Saadgi Se Katti Nahi.

614

बस यही दो मसले,
ज़िन्दगी भर ना हल हुए,
ना नींद पूरी हुई,
ना ख्वाब मुकम्मल हुए,
वक़्त ने कहा…..काश थोड़ा और सब्र होता,
सब्र ने कहा….काश थोड़ा और वक़्त होता !

615

आज हम हैं,
कल हमारी यादें होंगी,
जब हम ना होंगे,
तब हमारी बातें होंगी,
कभी पलटो गे जिंदगी के ये पन्ने..
तो शायद आप की आँखों से भी बरसातें होंगी।

616

Khubsurat Sa Ek Pal Kissa Ban Jata Hai,
Jane Kab Kaun Zindagi Ka Hissa Ban Jata Hai,
Kuch Log Zindagi Me Milte Hain Aise,
Jinse Kabhi Na Tutnewala Rishta Banjata Hai.

617

Sapno Ko Sapna Mankar Bhool Na Jana,
Dil Ki Armano Ko Chod Na Dena,
Tum Mein Kashish Hai Kuch Pane Ki,
Na Mumkin Samajhkar Chod Na Dena.

We hope you enjoyed our collection of Shayari about life. Share these Shayari about life on social media and your website. In case we have missed out any Shayari about life, feel free to drop us a comment and we will include that Shayari about life to this list.

Also, make sure to bookmark this Shayari about life article so that you can, later on, pick our more Shayari to share on Facebook and Whatsapp.

Like and Share our FB page :)

Enjoy the awesome collection of Shayari.